लद्दाख देश के नए केंद्र शासित प्रदेश | History of Ladakh in Hindi

हेलो, दोस्तों, हमारे ब्लॉग में आपका स्वागत है। आज हम इस आर्टिकल में बात करेंगे देश के नए केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख के बारे में, क्यों इतना खाश है लदाख भारत के लिए ,तो आईये जानते है सबकुछ विस्तार से।

लद्दाख भारत के सबसे उत्तरी छोर पर स्थित भारत का एक केंद्र शाषित प्रदेश है, जो की भारत का सबसे ऊंचाई पर स्थित पठार है और यह बेहद ही खुबसुरत है इसका अधिकांश भाग 9800 फीट से ऊँचा हैं, यह हिमालय और काराकोरम पर्वत शृखंला और सिंधु नदी की ऊपरी घाटी में फैला हैं।

ladakh history in hindi
ladakh history in hindi

लद्दाख कुल 97776 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ हैं, सीमावर्ती स्थिति के कारण सामरिक दृष्टि से इसका बड़ा महत्व है, इसकी सीमाएं पूर्व में तिब्बत, दक्षिण में हिमाचल प्रदेश, पश्चिम में जम्मू कश्मीर व् बाल्टिस्तान ,और उतर में काराकोरम दर्रे के उस तरफ जिनजियांग क्षेत्र से मिलती हैं।

लद्दाख एक ट्रांस हिमालयन क्षेत्र है जहां पर बारिश न के बराबर होती है, यहाँ पर आपको ठंडा मरुस्थल देखने को मिलेगा, सदियों में इन पहाडों पर जमकर बर्फ गिरती है और यही बर्फ जब गर्मियों में पिघलना शुरू होती हैं तो उससे नदियों का निर्माण होता है इन्ही नदियों के किनारे कुछ गांव बसे हुए है, इन्ही नदियों से थोड़ी बहुत खेती हो जाती है.

लद्दाख का इतिहास | History of Ladakh in Hindi

लद्दाख का इतिहास नव-पाषाणकाल से स्थापित है, पहली शताब्दी के में लद्दाख कुषाण साम्राज्य का हिस्सा था. दूसरी शताब्दी के आस-पास धिरे-धीरे बौद्ध धर्म कश्मीर से लद्दाख में फैला,आठवीं शताब्दी में लद्दाख तिब्बती प्रभाव और चीनी प्रभाव के टकराव का केंद्र बन गया,परिणाम स्वरुप लद्दाख बारी-बारी से चीन और तिब्बत के हाथो आता जाता रहा.

16वीं में जब इस्लामी प्रभाव अपना पैर जमा रहा था,एवं इस्लामी मिशनरियों ने लदाख में आना शुरू किया तो इसके उपरांत लद्दाख में कुछ धर्मान्तरण भी हुआ.17वीं शताब्दी में राजा ल्हाचेन भगान ने लद्दाख को पुनर्संगठित किया तथा नामग्याल वंश की स्थापना किया जो आज भी मौजूद है। अधिकतर नामग्याल राजाओं ने मध्य एशियाई हमलावरों को लद्दाख से खदेड़ दिया तथा अपने सम्राज्य को अस्थायी रूप से नेपाल तक फैला लिया.

18वीं के अंत तक व् 19वीं सतबादी के शुरुआत में जब मुग़ल सम्राज्य टूट चूका था और सिख शासन पंजाब और कश्मीर में स्थापित हो चूका था. 1834 ईस्वी में डोगरा राजा गुलाब सिंह के जनरल जोरावर सिंह ने लद्दाख पर आक्रमण कर उसे जित लिया. 1850 आते आते लद्दाख में यूरोपिए प्रभाव बढ़ा तथा बहुत सारे भूगोलविद,खोजकर्ता और पर्यटक आने शुरू हो गए.

1947 में भारत विभाजन के समय डोगरा राजा हरी सिंह ने जम्मू कश्मीर को भारत में मिलाने की हामी भर दी कुछ शर्तो के साथ(अनुच्छेद 370 ) जिसे जिससे यह भारत का एक अभिं हिस्सा बन गया।

आजादी के बाद से ही जम्मू कश्मीर में पाकिस्तानी घुसपैठियों ने यहाँ पर हमेशा घुसपैठ करते रहे।  पर हमारे भारत के वीर सैनिको उन घुसपैठियों को बार-बार भागने पर मजबूर किया,जम्मू कश्मीर सीमायी क्षेत्र होने के कारण पाकिस्तान और चीन के साथ हमेशा युद्ध का खतरा बना रहता है.

ये भी पढ़े:- आरएसएस (RSS) क्या है ?

भारत-चीन के बिच 1962 में युद्ध हो चूका है, इसके उपरांत चीन का तब से लद्दाख के अक्साई चीन पर कब्ज़ा है।

जम्मू कश्मीर में भारत-पाकिस्तान के बिच 1947,1965,1971 एवं 1999 में युद्ध हो चूका है 1999(कारगिल युद्ध ) में तो  परमाणु युद्ध तक का खतरा हो चूका था क्योंकि भारत-पाकिस्तान दोनो देशो ने तब तक परमाणु शक्ति हासिल कर चुके थे।

साल 1999 में पाकिस्तानी आर्मी एवं कुछ पाकिस्तानी घुसपैठिये ने लद्दाख के कारगिल क्षेत्र में भारी संख्या में घुसपैठ की, पर ऑपरेशन विजय की शुरुआत करते हुए भारतीय सेना तोपों, आर्टिलरी, राकेट तथा वायु सेना के सहयोग से पाकिस्तानी सेनाओं को खदेड़ने में कामयाब हुए। अंततः भारत ने ये लड़ाई 26 जुलाई को जित ली।

अंततः वो दिन आया जो हर भारतियों को इंतजार था पहले लद्दाख जम्मू कश्मीर का हिस्सा हुआ करता था पर 5 August 2019 को केंद्र की मोदी सरकार ने कई सालो से चले आ रहे जम्मू कश्मीर के मुद्दे का कोई हल निकाला है और  एतिहसिक फैसला लेते हुए जम्मू कश्मीर के धारा 370 को रद्द कर दिया ,और साथ ही जम्मू कश्मीर और लदाख दोनों को अलग करते हुए को केंद्र शाषित प्रदेश घोसित कर दिया. एवं साथ ही साथ लद्दाख को बिना विधानसभा केंद्र शासित प्रदेश घोषित किया गया.

लद्दाख की कुछ अनोखे तथ्य

  • लद्दाख की पैंगोंग झील पूरी दुनिया की सबसे ऊँची खारे पानी की झील है, यह झील लगभग 4325 मीटर ऊंचाई पर स्थित है सर्दियों में ये झील खारे पानी होने के बावजूद जम जाती है.
  • दो कूबड़ वाला ऊँट आपको केवल लद्दाख में ही देखने को मिलेंगे,जो आपको भारत में कहीं और देखने को नहीं मिलेंगे,ये खासकर कर ऑस्ट्रेलिया में अधिक संख्या में पाए जाते है। जो इस लद्दाख की नुब्रा घाटी का मुख्या आकर्षण का केंद्र है.
  • Magnetic Hill के नाम से मशहूर ये पहाड़ के आस पास अगर आप अपना गाड़ी पार्क करके कहीं चल जाते है, तो वापस आने पर हो सकता है की आपका गाड़ी वहां पे ना मिले ,क्यूंकि मैग्नेटिक शक्ति होने के कारण गाड़ी को 20 km प्रति घंटे की स्पीड से खींच सकता है जो की अपने आप में यह एक अनोखी बात है.
  • पूरी दुनिया भर में 700 तेंदुए में से अकेले 200 तेंदुए आपको लदाख में देखने मिल जायेंगे, जो आकर्षण का मुख्य केंद्र है इसके कारण लदाख में वाइल्ड फोटोग्राफर आते रहते है.
  • लदाख में गर्मियों में तापमान 3 से 35 डिग्री तक रहती है जबकि सर्दियों में तापमान शून्य से 20-25 डिग्री तक चली जाती है.

लद्दाख की राजधानी

“लेह” लद्दाख की राजधानी है। और ये लद्दाख की मुख्य नगर भी है की जो की समुद्र तल से 3524 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है.

लद्दाख की जिलों की संख्या

लद्दाख को 1979 में दो जिलों में बाटा गया।

  1. कारगिल, जो की 14086 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है, जिसकी आबादी 1.41 लाख(2011) के अनुसार.
  2. लेह,जो की 45110 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है, जिसकी आबादी 1.3 लाख(2011) के अनुसार.

धार्मिक समुदाय

लद्दाख एक गैर मुस्लिम बहुल क्षेत्र है यहाँ पे 4-5 धार्मिक समुदाय के लोग रहते है।

  1. इस्लाम – 46%(शिया)
  2. तिब्बती बुद्धिस्ट- 40%
  3. हिन्दू- 12 %
  4. अन्य- 2%

अधिकारिक भाषा

लद्दाख में मुख्य रूप से बोली जाने वाली भाषाएं है।

  1. हिंदी
  2. लदाखी
  3. उर्दू
  4. अंग्रेजी

खेल-कूद

Ice Hockey लद्दाख में सबसे ज्यादा खेले जाने वाली खेल है, जो सिर्फ Natural Ice पर ही खेला जा सकता है वो भी सिर्फ मध्य दिसंबर से मध्य फरवरी तक। लद्दाख में cricket भी बहुत्त प्रसिद्ध है.

लद्दाख पर्यटन

लद्दाख मूलतः एक Tourist Destination Place है। लद्दाख को 1974 में Tourist के लिए खोला गया था जहां लगभग प्रत्येक वर्ष  एक लाख लोग घूमने आते है,

Tourist Place होने के कारण लद्दाख में आपको Hotel, Guest House, Tour Guide, Shopping Market,और अगर आपको मोटरसाइकिल से लद्दाख की खूबशूरती देखनी है तो आपको किराये पे motorcycle भी मिल जाएगी,तो इस तरह Tourism Industry लद्दाख के Economy का Backbone है.

लद्दाख से बनने वाले महत्वपूर्ण प्रश्न-

Q.1-लद्दाख में कितने जिले हैं

उत्तर – लद्दाख में कुल दो जिले है कारगिल और लेह।

Q.2-लद्दाख किस देश में है

उत्तर- लद्दाख भारत में है।

Q.3-लद्दाख किस राज्य में है

उत्तर- लद्दाख भारत का एक केंद्र शाषित प्रदेश है।

Q.4-लेह किस नदी के किनारे है

उत्तर- लेह, सिंधु नदी के किनारे बसा हुआ है।

Q.5- लद्दाख का लोक नृत्य क्या है?

उत्तर – लद्दाख में शोंडोल नृत्य काफी प्रसिद्ध है

Q.6- लद्दाख का प्राचीन नाम क्या है?

उत्तर – लद्दाख का प्राचीन नाम Maryul or low था 

दोस्तों,आपको ये लेख लद्दाख(Ladakh)का इतिहास कैसा लगा आप हमे  कमेंट करके जरूर बतायें,और ये जानकारी अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करे, धन्यवाद।

अन्य पढ़े :-

Leave a Reply

error: Content is protected !!