लवलीना बोरगोहेन की जीवनी | Lovlina Borgohain Biography in Hindi

Lovlina Borgohain Age, Height, Caste, Religion, Education, Father Name, Family, Net Worth, Instagram,  Tokyo Olympic, Biography in Hindi

आज जानेंगे भारत के उभरते बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन (Lovlina Borgohain) की जीवनी, इन्होने टोक्यो ओलम्पिक में झंडे गाड़ दिए है, वीमेन बॉक्सिंग के 69 kg के केटेगरी में अपने प्रतिद्वंद्वी बॉक्सर चीनी ताइपे की नीन-चिन चेन को क्वार्टरफाइनल में 3 -2 से हराकर सेमीफइनल में पहुँच गयी है। जिससे भारत के लिए ब्रोंज मेडल तो पक्का हो गया है।

पर जिस तरीके से इन्होने अपने पहले ओलम्पिक में धमाकेदार एंट्री की है। आप, हम और पूरा देश इनसे उम्मीद कर रहा है की ये गोल्ड या सिल्वर जीते। तो आइये आज भारत के उभरते बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन की संगर्ष गाथा को जानने की कोशिश करते है।

lovlina borgohain biography in hindi

Lovlina Borgohain Biography in Hindi

पूरा नाम (Full Name) लवलीना बोरगोहेन
निक नेम लवलीना
जन्म दिवस (Birth Date) 2 अक्टूबर 1997
जन्म स्थान (Birth Place) गोलाघाट, असम, भारत
उम्र (Age) 24 साल
गृहनगर (Hometown) असम, भारत
राष्ट्रियता (Nationality) भारतीय 
पेशा (Profession) बॉक्सर
धर्म (Religion) हिन्दू
लंबाई (Height) 5 फ़ीट 10 इंच
वजन (Weight) 69 kg
जाती (Caste) असामी
शिक्षा (Education) हाई स्कूल
कोच का नाम पदम् बुरो, शिव सिंह
कुल सम्पति 1- 5 मिलियन डॉलर
परिवार (Family)
पिता का नाम टीकेन बोर्गोहेन
माता का नाम मामोनी बोर्गोहेन
सिब्लिंग्स लिचा और लीमा (बड़ी बहनें)

लवलीना बोरगोहेन की प्रारंभिक जीवन (Lovlina Borgohain Early Life)

लवलीना बोरगोहेन का जन्म भारत के उत्तर पूर्वी राज्य असम के गोलाघाट में 2 अक्टूबर 1997 को हुआ था, इनके पिता का नाम टीकेन बोर्गोहेन है। जो की एक साधारण व्यापारी है, और माँ का नाम मामोनी बोर्गोहेन है, जो की एक हाउसवाइफ है। लवलीना से बड़ी जुड़वां बहने लिचा और लीमा है, इन दोनों ने भी किक बॉक्सिंग में राष्ट्रीय प्रतियोगियों में भाग लिया, पर किसी कारणवश आग नहीं जा पायी।

चुकीं लवलीना के पिता एक छोटे व्यापारी है, फिर भी अपने बेटी की आकांक्षाओं को पूरा करने के लिए आर्थिक रूप से संगर्ष करना पड़ा।अपनी बहने से ही प्रेरणा लेकर लवलीना ने भी में किक बॉक्सिंग की ट्रेनिंग लेनी शुरू की, पर बाद में इन्होने बॉक्सिंग करना पसंद किया, और धीरे धीरे अपने स्कूल के बॉक्सिंग प्रतियोगिताओं में भाग लेना शुरू किया।

भारतीय खेल प्राधिकरण के द्वारा बर्थपर गर्ल हाई स्कूल में बॉक्सिंग का ट्रायल आयोजित करवाया गया। जहाँ पर लवलीना ने भाग लिया और अच्छी बॉक्सिंग करने के कारण, भारत के राष्ट्रीय कोच पदम् बुरो के नजरों में आयी और इनके प्रतिभा को पहचाना और इन्हे चयन कर लिया, इसके बाद कोच शिव सिंह के दिशा निर्देश में इन्होने ट्रेनिंग प्राप्त की।

Lovlina Borgohain Boxing Career

बॉक्सिंग करियर में लवलीना बोरगोहेन को अंतराष्ट्रीय स्तर पर पहली बार अवसर साल 2018 के कॉमनवेल्थ गेम्स में मिला, जहाँ इन्होने वेल्टरवेट बॉक्सिंग केटेगरी में भाग ली, हालाकिं इन्हे अपने पहले अंतराष्टीय मैच में ब्रिटेन के सैंडी रयान एस से हार का सामना करना पड़ा।

लवलीना बोरगोहेन ने कामनवेल्थ गेम्स से मिले अनुभव के बाद, साल 2018 में ही फरवरी में आयोजित अंतराष्ट्रीय बॉक्सिंग चैंपियनशिप में वेल्टरवेट केटेगरी में गोल्ड मेडल जीता।

इसके पहले जून 2017 में अस्ताना में आयोजित प्रेसिडेंटस कप में इन्होने ब्रोंज मेडल जीती थी। और फिर नवंबर 2017 में वियतनाम में आयोजित एशियाई बॉक्सिंग चैंपियनशिप में में लवलीना ने ब्रोंज मेडल जीती।

इसके बाद जून 2018 में मंगोलिया में उलानबटोर कप में सिल्वर मेडल जीता, और फिर सितम्बर 2018 में थाईलैंड की राजधानी पोलैंड में आयोजित 13वां अंतराष्ट्रीय सिलेसिअन चैंपियनशिप में ब्रोंज मेडल जीती। इसके बाद लवलीना ने कभी पीछे मूड के नहीं देखी और लगातार बॉक्सिंग टूर्नामेंट्स में मेडल जीतते गयी।

इसके बाद साल 2018 में ही इन्होने पहली बार दिल्ली में आयोजित AIBA Women’s World Boxing Championships में भारत का प्रतिनिधित्व की, जहाँ पर इन्होने वेल्टरवेट बॉक्सिंग के 69 kg केटेगरी में ब्रोंज मेडल जीती थी।

इसके बाद साल 2019 में लवलीना को दूसरी बार AIBA Women’s World Boxing Championships में भारत का प्रतिनिधितित्व करने का मौका मिला जो की रूस के उलान-उडे शहर में आयोजित हुआ था, जहाँ पर इन्हे वेल्टरवेट बॉक्सिंग के 69 kg केटेगरी में चीन के Yang Liu से सेमीफइनल में हार का सामना करना पड़ा और ब्रोंज मेडल से संतोष करना पड़ा।

इसे बाद साल 2019 में कई तरह के ब्रांड्स ने लवलीना बोरगोहेन से कांटेक्ट किया अपने ब्रांड्स को प्रोमोट करने के लिए, इसके लिए लवलीना ने स्पोर्ट्स मैनेजमेंट फर्म Infinity Optimal Solutions के साथ कॉन्ट्रैक्ट साइन की, जो की इनके ब्रांड्स और कमर्शियल प्रोजेक्ट्स को हैंडल करता है।

मार्च 2020 में लवलीना बोरगोहेन ने 2020 Asia & Oceania Boxing Olympic Qualification में 69 kg के केटेगरी में उज्बेगिस्तान की Maftunakhon Melieva को 5-0 हराकर ओलम्पिक का टिकट हासिल की, ऐसा करने वाली लवलीना असम की पहली महिला खिलाडी बन गयी।

ये भी पढ़े:- ओलम्पिक खेल पर निबंध | Essay on Olympic in Hindi

लवलीना बोरगोहेन का टोक्यो ओलंपिक में प्रदर्शन

लवलीना ने अपने करियर के पहले ओलम्पिक में धमाकेदार शुरआत करते हुए वीमेन बॉक्सिंग के 69 kg के केटेगरी में चायनीज़ ताइपे की नीन-चिन चेन को क्वार्टरफईनल में 3-2 से हराकर सेमीफइनल में प्रवेश कर ली, इसके साथ ही भारत के लिए एक मेडल, ब्रोंज को पक्का हो गया।

इनका सेमीफानल का मुकाबला 4 अगस्त 2021 को तुर्की के मुक्केबाज बुसेनाज़ सुर्मेनेली के साथ था, और ये मुकाबला लवलीना 5-0 से हार गयी और इन्हे ब्रोंज मैडल से ही संतोष करना पड़ा। पर जिस तरीके से लवलीना ने टोक्यो ओलम्पिक का सफर तय की है। इनसे अगले ओलम्पिक में बेहतरी की उम्मीद है।

Lovlina Borgohain Awards

बॉक्सिंग में इनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए भारत सरकार ने साल 2020 में इन्हे अर्जुन पुरुस्कार से सम्मानित किया गया, और ये पुरुस्कार प्राप्त करने वाली लवलीना बोरगोहेन असम की छठवे व्यक्ति बनी। 

FAQ-

Q.1 लवलीना बोरगोहेन कौन है ?

उत्तर- एक भारतीय महिला बॉक्सर है।

Q.2 लवलीना बोरगोहेन के पिता का क्या नाम है

उत्तर- इनके पिता का नाम टीकेन बोर्गोहेन है

Q.3 लवलीना बोरगोहेन टोक्यो ओलिंपिक में कहां तक पहुंची हैं ?

उत्तर- अभी सेमीफइनल में पहुंची है

Q.4 लवलीना बोरगोहेन का अगला मैच (सेमीफइनल) कब है?

उत्तर- 4 अगस्त को 11 बजे से

Q.5 लवलीना बोरगोहेन के कोच का क्या नाम है 

उत्तर- पदम् बुरो, शिव सिंह

Q.6 लवलीना बोरगोहेन ने ओलम्पिक के क्वार्टरफईनल में चीनी ताइपे को कितने स्कोर से हराया ?

उत्तर- 3-2 के स्कोर से

इन्हे भी पढ़े:-

Leave a Reply

error: Content is protected !!