MRI Full Form in Hindi | MRI जाँच क्या होता है जानिए पूरी जानकारी

नमस्कार दोस्तों स्वागत है हमारे वेबसाइट पर आज की पोस्ट में हम बात करेंगे MRI Scan के बारे में जैसा कि आप लोग जानते हैं कि आज की समय में बढ़ते हुए उम्र के साथ लोगों को कई प्रकार की बीमारियां अपनी चपेट में ले रही है इसके साथ साथ युवाओं भी खतरनाक बीमारी के चपेट में आ रहे है।

ऐसे में अगर किसी व्यक्ति के अंदरूनी अंगों में कोई बीमारी के लक्षण है तो उसका पता लगाने के लिए डॉक्टर MRI का इस्तेमाल करते हैं ताकि बीमारी का पता लगाया जा सके ऐसे में दोस्तों आपके मन में जरूर सवाल आता होगा कि आखिर में MRI जाँच क्या होता है और इसकी मशीन कैसे कार्य करती है अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो आप MRI Full Form in Hindi लेख को अंत तक पढ़कर इसके बारे में जानकारी पा सकते है। 

MRI Scan क्या होता है?

mri full form in hindi
mri full form in hindi

MRI Scan का मतलब होता है आपके शरीर के अंदरूनी भागों की तस्वीर को खींचना इस प्रक्रिया में सबसे पहले चुंबकीय शक्ति रेडियो किरणों और कंप्यूटर की सहायता से आपके शरीर के उस भाग की तस्वीर ले जाती है जहां पर डॉक्टर को इस बात का अंदेशा है कि गंभीर बीमारी आपको हो सकता है।

आप सोच रहे होंगे कि आखिर मैं आपके शरीर के अंदरूनी भागों की यह तस्वीर कैसे निकालता है है तो मैं बता दूं कि MRI मशीन आपके शरीर में उपस्थित हाइड्रोजन प्रोटीन माध्यम से ही तस्वीरों को खींचता है। हम सभी लोग जानते हैं कि हमारे शरीर में अधिक मात्रा में पानी होता है ऐसे में एमआरआई मशीन की रेडिओ किरणे जब हाइड्रोजन के सम्पर्क में आती है। 

तो वहां पर हाइड्रोजन घूम कर एक इमेज बनाता है इसके बाद ही आपके शरीर के परेशानियों के बारे में पता लगाया जाता है MRI Scan की सबसे बड़ी खासियत है कि इसमें किसी प्रकार की कोई भी हानिकारक किरणों का इस्तेमाल नहीं होता है जैसा की CT और एक्स-रे स्कैन में होता है।

MRI Full Form in Hindi

MRI का फुल फॉर्म “Magnetic Resonance imaging” होता है जिसे हिंदी में “चुंबकीय प्रतिध्वनि इमेजिंग” कहते हैं इसका इस्तेमाल डॉक्टर तब करते हैं जब किसी व्यक्ति को कोई गंभीर बीमारी होती है और उसके लक्षण समझ में नहीं आते हैं इसके अलावा जब डॉक्टर किसी व्यक्ति का उपचार कर रहे हैं।

तो व्यक्ति उस उपचार से ठीक हो रहा है कि नहीं उसके बारे में जानकारी लेने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है मेडिकल के क्षेत्र में यह एक प्रकार का अद्भुत आविष्कारक है और इसके आने से मेडिकल क्षेत्र में नई क्रांति का संचार हुआ है। अब और सटीकता से बीमारी की पहचान कर इसका इलाज किया जाता है। 

MRI Scan क्यों किया जाता है?

MRI Scan डॉक्टर के द्वारा क्यों किया जाता है तो मैं आपको बता दूं कि इस बात की जानकारी देने के लिए की एक व्यक्ति को किस प्रकार का गंभीर बीमारी हुआ है ताकि डॉक्टर उसका सही उपचार कर सके इस स्क्रीन के द्वारा आपके शरीर में उपस्थित सभी प्रकार की छोटी से छोटी बीमारियों का पता आसानी से लगाया जा सकता है।

और एक बार जब बीमारी का पता लगता है तो डॉक्टर आप का उपचार सही तरीके से करेगा और उपचार आपका सही तरीके से हो रहा है कि नहीं इस बात की जानकारी भी MRI स्किन के द्वारा ही मालूम किया जाता है इस प्रकार का स्कैन का इस्तेमाल विशेष तौर पर दिमाग से जुड़े हुए बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है जैसे ट्यूमर, ब्रेन स्ट्रोक इत्यादि। 

MRI Scan करने की प्रक्रिया क्या है?

MRI Scan जब भी आपका डॉक्टर के द्वारा किया जाएगा तो उससे पहले डॉक्टर आपके शरीर में उपस्थित सभी प्रकार की चीजें जैसे घड़ी, अंगूठी, चेन साथ ही तांबा और लोहा का कोई भी चीज अगर आपने पहना है तो उसे पूरी तरह से आप को खोलकर एक जगह रखना होगा इसके अलावा आपने जो भी कपड़े है उसे निकालना होगा और आपको सफेद या नीले रंग का कपड़ा पहना होगा।

उसके बाद आपको MRI स्क्रीन के मशीन के बिस्तर पर लिटा दिया जाएगा उसके बाद आपका पूरा शरीर मशीन के अंदर चला जाएगा और आपके शरीर के अंदरूनी भागों का यहां पर चुंबकीय तरंगों के माध्यम से फोटो लिया जाएगा और उसके बाद डॉक्टर स्कैन फोटो को देखकर आपके शरीर में किस प्रकार की बीमारी है इसकी पहचान करेगा और इसी आधार पर आपका इलाज शुरू कर दिया जायेगा। 

MRI Scan उपयोग

एमआरआई स्कैन का उपयोग निम्न प्रकार की बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है उन सब का विवरण में आपको नीचे दे रहा हूं जो इस प्रकार है। 

  • मस्तिष्क
  • रीढ़ की हड्डी
  • शरीर की हड्डियों
  • जोड़ो संबंधित बीमारियों का पता लगाने के लिए
  • स्तनों संबंधित बीमारी पता करने के लिए 
  • हृदय की जाँच के लिए 
  • लिवर जाँच के लिए
  • फेफड़े जांचने के लिए 
  • गर्भाशय आदि की जाँच भी की जाती है। 

MRI Scan कराने से पहले कुछ बातों का ध्यान रखें

  • आप जब भी MRI करवाने के लिए हॉस्पिटल जाएंगे तो आप अपने साथ कभी भी लोहे या दूसरे प्रकार का अन्य धातु लेकर ना जाए क्योंकि एमआरआई स्कैन में चुंबकीय तरंगों का इस्तेमाल किया जाता है और ऐसे में अगर आप इस प्रकार की चीजों को लेकर जाएंगे तो MRI करवाने में दिक्कत आ सकती है। 
  • आपने अगर किसी प्रकार का दवा का सेवन किया है या आपके इसके पहले किसी बीमारी के लिए सर्जरी हुआ था तो उसके बारे में डॉक्टर को जरूर बताएं नहीं तो आपको इसके दुष्परिणाम झेलने पड़ सकते हैं। 
  • सबसे महत्वपूर्ण बात कि जब आप स्क्रीन के बेड पर सोएंगे तो आपके कान और नाक में किसी प्रकार के लिए लोहे या दूसरे धातु के चीजें नहीं होनी चाहिए। 
  • महिला के केस में अगर वो प्रेगनेंट है तो डॉक्टर को बताये। 

MRI Scan करवाने में खर्च कितना आएगा

एमआरआई स्कैन अगर आप सरकारी हॉस्पिटल में करवाते हैं तो वहां पर बहुत ही कम पैसे में हो जाएगा इसके अलावा कई सरकारी हॉस्पिटल में तो फ्री में ही MRI स्कैन हो जाता है। और अगर आप प्राइवेट में एमआरआई स्कैन करवाते हैं तो वहां पर ₹5000 से लेकर ₹10000 का खर्च आएगा साथ ही ये इस बात पर निर्भर करता है कि आप पूरे शरीर का MRI Scan करा रहे है या शरीर के किसी विशेष भाग का उसके अनुसार आपको पैसे देने पड़ेंगे। 

उम्मीद करता हूँ आपको ये आर्टिकल MRI Full Form in Hindi अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा होगा अब आप MRI स्कैन के बारे में अच्छे से जान गए होंगे। इस आर्टिकल को स्नेह और प्यार दिखाने के लिए आप इसे अपने दोस्तों के साथ साथ इसे सोशल मीडिया साइट्स पर भी जरूर शेयर करें किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव आप कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है धन्यवाद!

Read More –

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment

error: Content is protected !!