नीरज चोपड़ा का जीवन परिचय | Neeraj Chopra Biography in Hindi, Tokyo Olympic 2020 Gold Medal

Neeraj Chopra Biography, Javelin Throw in Hindi, (Age, Tokyo Olympics 2021, Gold Medal, Record, Height, Army, Best Throw, Personal best, World Ranking, Salary, Caste, Religion)

भारत के भाला फेंक (Javelin Throw) के खिलाडी नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलम्पिक 2020 में 87.58 मीटर जेवलिन थ्रो कर गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। और भारत को गौरवान्वित किया है, और इसके साथ ही ओलम्पिक के इतिहास के पन्नो में भारत तथा अपना नाम सुनहरे अक्षरों में दर्ज कर लिया है। और ये भारत का ओलंपिक्स के इतिहास में एथेलिटिक्स में पहला मेडल है।

नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में ही 87.58 मीटर जेवलिन थ्रो कर रिकॉर्ड सेट कर दिया था। और खेल के अंत होने तक इसे किसी भी देश के खिलाडी ने पार नहीं कर सका। और इस तरह भारत को टोक्यो ओलम्पिक 2020 में पहला गोल्ड मेडल हासिल हुआ। भारत को ये गोल्ड मेडल 13 वर्षो के बाद मिला। इससे पहले भारत के लिए अभिनव बिंद्रा ने साल 2008 बीजिंग ओलम्पिक में शूटिंग में गोल्ड मेडल जीता था।

इनके बेहतरीन खेल के कारण साल 2016 में इन्हे भारतीय सेना में नायब सूबेदार बनाया गया था, साथ में इन्हे सेना के विशेष पुरुस्कार विशिष्ट सेवा मेडल से भी सम्मानित किया गया है। तो चलिए आज जानते है टोक्यो ओलम्पिक 2020 में गोल्ड मेडल जित भारत को गौरवान्वित करने वाले नीरज चोपड़ा के बारे में।

neeraj chopra biography in hindi
neeraj chopra biography in hindi

नीरज चोपड़ा की जीवनी | Neeraj Chopra Biography in Hindi

पूरा नामनीरज चोपड़ा
जन्म24 दिसंबर 1997
जन्म स्थानपानीपत, हरियाणा, भारत
होमटाउनपानीपत
पेशाजेवलिन थ्रो
प्रसिद्ध हैटोक्यो ओलम्पिक 2020 में गोल्ड मेडल जीता
राष्ट्रीयताभारतीय
उम्र23 साल
लम्बाई5 फ़ीट 10 इंच
शिक्षास्नातक
धर्महिन्दू
जातीहिन्दू रोर
वर्ल्ड रैंकिंग4
कोच का नामउवे होन
नेट वर्थ1- 5 मिलियन डॉलर
परिवार (Family) 
माता का नामसरोज देवी
पिता का नामसतीश कुमार
बहन का नामसरिता और संगीता

नीरज चोपड़ा का प्रारंभिक जीवन | Neeraj Chopra Early Life

नीरज चोपड़ा का जन्म भारत के हरियाणा राज्य के पानीपत जिला के खंडरा गांव में  24 दिसंबर 1997 को एक बेहद ही साधारण किसान परिवार में हुआ था। इनके पिता का सतीश कुमार है जो की एक किसान है, और खेती- बाड़ी कर अपना जीवन यापन करते है। एवं इनकी माता का नाम सरोज देवी है, जो की गृहणी है, नीरज चोपड़ा के दो बहनें भी है। जिनका नाम सरिता और संगीता है। नीरज चोपड़ा ने अपनी पढाई डीएवी कॉलेज चंडीगढ़ से पूरी की है।

बचपन के दिनों में ये कब्बडी और वॉलीबॉल खेलना पसंद किया करते थे, मात्र ग्यारह साल की उम्र में ही इनका वजन 80 kg तक हो गया था। इनके परिवार के लोग इन्हे स्वस्थ रहने के लिए वजन कम करने के लिए बोला करते थे, इसके चलते ही नीरज ने शिवाजी स्टेडियम में व्यायाम करने के लिए जाने लगे।

यहाँ पर इनकी मुलाकात वैसे लोगो से हुयी जो जेवलिन थ्रो की प्रैक्टिस किया करते थे, फिर बाद में धीरे धीरे इनका भी इंटरेस्ट इस खेल के प्रति बढ़ते गया और फिर बाद में इन्हिने जेवलिन थ्रो को करियर मान प्रोफेशनल ट्रेनिंग लेने लगे।

नीरज चोपड़ा रिकार्ड्स | Neeraj Chopra Records

नीरज चोपड़ा ने अपने खेल का सफर साल 2012 में लख़नऊ में आयोजित अंडर- 16 जूनियर चैंपियनशिप में 68.87 मीटर जेवलिन थ्रो कर गोल्ड मेडल अपने नाम किया था।

इसके बाद साल 2013 में नीरज चोपड़ा नेशनल यूथ चैंपियनशिप में दूसरे स्थान प्राप्त किया और आने वाले AAF वर्ल्ड यूथ चैंपियनशिप में अपना स्थान सुनिश्चित किया ।

इंटर-यूनिवर्सिटी चैंपियनशिप, जो की साल 2015 में आयोजित किया गया था। यहाँ नीरज चोपड़ा ने कुल 81.04 मीटर जेवलिन थ्रो कर एज ग्रुप का रिकॉर्ड बनाया बनाया था।

साल 2016 में आयोजित  जूनियर विश्व चैंपियनशिप में नीरज चोपड़ा ने 86.48 मीटर भाला फेंककर एक नया कीर्तिमान स्थापति कर, स्वर्ण पदक अपने नाम किया।

इसके बाद साल 2016 में गुवाहाटी में आयोजित दक्षिण एशियाई खेलो में नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल अपने नाम किया।

इसके बाद साल 2017, भुवनेश्वर में आयोजित एशियाई एथेलिटिक्स चैंपियनशिप में 85.23 मीटर भाला फेक गोल्ड मेडल अपने किया था। इसके बाद नीरज चोपड़ा ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा और भारत के लिए अंतराष्ट्रीय प्रतियोगिता में मेडल जीतते गए।

साल 2018 में ऑस्ट्रेलिया के गोल्डकोस्ट में आयोजित कामनवेल्थ गेम्स में नीरज चोपड़ा ने 86.47 मीटर जेवलिन थ्रो कर गोल्ड मेडल जीतकर भारत को गौरवान्वित किया था।

साल 2018 में ही इंडोनेशिया के जकार्ता में आयोजित एशियाई खेलो में नीरज ने रिकॉर्ड 88.06 मीटर भाला फेक कर गोल्ड मेडल तो जीता ही साथ में नेशनल रिकॉर्ड भी बना दिया ।

एशियाई खेल में जेवलिन थ्रो में गोल्ड मेडल जितने वाले ये पहले भारतीय खिलाडी है। और साथ ही साथ एक ही साल में एशियाई खेल और कामनवेल्थ गेम्स दोनों में गोल्ड मेडल जितने वाले नीरज चोपड़ा दूसरे भारतीय खिलाडी है इसके पहले ये रिकॉर्ड फ्लाइंग सिख के नाम से मशहूर मिल्खा सिंह जी ने साल 1958 में किया था।

साल 2020 के Kourtane Games जो की फ़िनलैंड में आयोजित हुआ था, जहाँ पर नीरज ने 86.79 मीटर जेवलिन थ्रो कर ओलम्पिक का टिकट हासिल किया था।

नीरज चोपड़ा टोक्यो ओलम्पिक 2020

टोक्यो ओलम्पिक 2020 में 7 अगस्त 2021 को नीरज चोपड़ा ने 87.58 मीटर जेवलिन थ्रो कर इतिहास रच दिया। और ये भारत का ओलंपिक्स के इतिहास में एथेलिटिक्स में ये पहला मेडल है। ये कारनामा कर नीरज चोपड़ा ने भारत के साथ साथ अपना नाम ओलंपिक्स के इतिहास के पन्नो में सुनहरे अक्षरों से नाम दर्ज कर लिया है।

नीरज ने अपने दूसरे प्रयास में ही 87.58 मीटर भाला फेक कर अन्य देशों के खिलाड़ियों के लिए एक टारगेट सेट कर दिया और खेल के अंत होने तक किसी खिलाडी ने भी ये इतनी दुरी से ज्यादा जेवलिन थ्रो नहीं किया। इसके साथ ही नीरज चोपड़ा ने गोल्ड मेडल जित कीर्तिमान स्थापित कर दिया है।

मेडल मिलने के बाद पत्रकारों के बातचीत के दौरान नीरज चोपड़ा ने कहाँ की मैं ये मेडल मिल्खा सिंह जी को समर्पित करना चाहता हूँ।

इससे पहले 4 अगस्त 2021 को नीरज ने टोक्यो ओलंपिक्स के फाइनल में जगह बना लिया था, इसके लिए इन्होने सबसे दूर 86.65 मीटर  जेवलिन थ्रो कर अपने ग्रुप में प्रथम स्थान हासिल कर ओलंपिक्स के फाइनल में जगह पक्की कर लिया था।

Neeraj Chopra Awards

खेल में इनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए साल 2020 में इन्हे अर्जुन अवार्ड ने सम्मानित किया गया था। और इन्हे विशिष्ट सेवा मेडल, से भी सम्मानित किया गया है। टोक्यो ओलंपिक्स में गोल्ड मेडल जितने के बाद नीरज चोपड़ा पर इनामो की बारिश हो रही है। और हो भी क्यों ना, इन्होने देश का नाम रोशन किया है। कुछ इनाम जो इनको देने के लिए अनोउसमेंट किया गया है वे निम्न है।

  • भारत सरकार ने इन्हे 75 लाख देने का घोषणा की है
  • इनके गृह राज्य के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने 6 करोड़ देने की घोषणा किये है। और साथ में ग्रेड वन की नौकरी।
  • पंजाब सरकार ने 2 करोड़ देने की घोषणा की है
  • मणिपुर सरकार ने एक करोड़ देने की घोषणा की है
  • BCCI ने एक करोड़ देने की घोषणा की है
  • आईपीएल की टीम चेन्नई सुपर किंग ने एक करोड़ देने की घोषणा की है।

FAQs-

Q. नीरज चोपड़ा कौन है 

Ans- भारत के जेवलिन थ्रो के खिलाडी है

Q. नीरज चोपड़ा के कोच कौन है?

Ans- नीरज चोपड़ा के कोच उवे होन है, जो की जर्मनी के प्रोफेशनल जेवलिन थ्रो खिलाडी रहे है

Q. नीरज चोपड़ा की उम्र कितनी है

Ans- 23 साल

Q. नीरज चोपड़ा की लम्बाई कितनी है ?

Ans- 5 फ़ीट 10 इंच

Q. नीरज चोपड़ा का गांव का क्या नाम है

Ans- नीरज चोपड़ा का गांव का नाम खंडरा है

Q. नीरज चोपड़ा का जन्म कब हुआ था

Ans- 24 दिसंबर 1997 को

Q. नीरज चोपड़ा का ओलिंपिक 2020 में बेस्ट थ्रो कितना है ?

Ans- 87.58 मीटर

Q. ओलम्पिक में जेवलिन थ्रो का बेस्ट रिकॉर्ड कितना है

Ans – 90.57  मीटर

नीरज चोपड़ा के पिता का क्या नाम है?

Ans – सतीश कुमार

क्या नीरज चोपड़ा जाट हैं?

Ans – जी हाँ नीरज चोपड़ा का जन्म एक जाट परिवार में हुआ था।

नीरज चोपड़ा के भाले का वजन कितना था?

Ans – नीरज चोपड़ा ने जिस भले का उपयोग कर ओलम्पिक 2020 में सवर्ण पदक जीता था उस भाले का वजन 800 ग्राम था।

इन्हे भी पढ़े –

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment