WiFi क्या है और ये कैसे काम करता है? WiFi Full Form in Hindi

आजकल के Digital युग में हर व्यक्ति Mobile का इस्तेमाल करता है और मोबाइल में अगर आप Youtube या Google में कुछ सर्च करना हो तो उसके लिए आपको लिए Internet की जरूरत पड़ती है हालांकि हम सभी लोग अपने मोबाइल में इंटरनेट सर्विस का इस्तेमाल करते हैं क्योंकि जब आप अपने मोबाइल में रिचार्ज करवाते हैं। तो आपको इंटरनेट कनेक्शन भी मिलता है। 

जिसके माध्यम से आप अपने मोबाइल में Facebook, Instagram, Twitter चला पाते है या Google में कुछ सर्च कर पाते है लेकिन कई बार ऐसा होता है कि आपके मोबाइल में इंटरनेट कनेक्शन नहीं होता है या आपका प्रतिदिन इंटरनेट का कोटा खत्म हो जाता है और आपको किसी दूसरे व्यक्ति को कोई इम्पोर्टेन्ट Document, Photo, Video या किसी भी प्रकार का Data शेयर करना है तो इसके लिए आपको WiFi की जरूरत पड़ेगी। 

wifi kya hai hindi

क्योंकि वाईफाई के माध्यम से आप आसानी से अपने मोबाइल से डॉक्यूमेंट किसी दूसरे व्यक्ति को कम समय में भेज सकते हैं। क्योंकि वाईफाई दूसरे इंटरनेट कनेक्शन के मुकाबले काफी फास्ट और अच्छा होता है ऐसे में आपके मन में सवाल आएगा कि आखिर मे WiFi क्या है और ये कैसे काम करता है? WiFi Full Form in Hindi अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो कोई बात नहीं है हम आप से अनुरोध करेंगे कि आर्टिकल को आखिर तक पढ़े। 

वाई-फ़ाई क्या है? (WiFi Kya Hai in Hindi)

वाई-फ़ाई रेडियों तरंगो द्वारा काम करने वाली एक Technology है WiF, IEEE 802.11 मानकों के परिवार के आधार पर वायरलेस नेटवर्क प्रोटोकॉल का एक परिवार है जो की अपने Local Area Network के Devices और Internet Access के लिए Use किया जाता है।

जो की अपने  के आस पास मौजूद Gadgets जैसे Mobile, Laptop और Computer, Tablets, Printer आदि के अंदर इंटरनेट की सर्विसेज Radio Waves के माध्यम से प्रदान करता है। वाई-फ़ाई इसकी सबसे बड़ी विशेषता है कि दूसरे नेटवर्क के मुकाबले इसकी गति काफी तेज होती है।

और इसमें इंटरनेट का संचार काफी तेजी के साथ कम समय में होता है अगर आप अपनी वाई-फ़ाई का कनेक्शन किसी फ़ोन या लैपटॉप में बिना किसी wire की सहायता से जोड़ना चाहते है तो इसके लिए आपको एक Wireless Router की आवश्यकता होती है जिसकी मदद से आप बहुत आसानी से अपने Smartphone को वाई-फ़ाई से जोड़ सकते है और तेज स्पीड के Internet का आनंद ले सकते है।

WiFi का आविष्कार किसने किया?

वाईफाई का अविष्कारक Dr. John O Sullivan और John Deane को माना जाता है ये दोनों और इनके साथ मौजूद उनकी टीम ने वर्ष 1991 में वाईफाई का आविष्कार किया था। इस महान साइंटिस्ट Dr. John O’Sullivan का जन्म ऑस्ट्रेलिया में हुआ था और उन्हें अपनी हायर स्टडीज सिडनी विश्वविद्यालय से पूरी की थी और इन्होने वाईफाई का आविष्कार नाम नीदरलैंड देश में किये थे। 

WiFi Full Form in Hindi

WiFi का फुल फॉर्म “Wireless Fidelity” होता जिसे हिंदी में “वायरलेस स्थानीय क्षेत्र तंत्र” कहां जाता है। Wi Fi एक प्रकार का Wireless Local Area Network (WLAN) है। इसका नेटवर्क रेडियो तरंगों (Radio Wavelength) के द्वारा संचालित होता है इसका इस्तेमाल अगर आप कंप्यूटर में करते हैं 

तो उसके लिए आपको कंप्यूटर में Wireless Adapter लगाया जाता है जिसके बाद ही आप कंप्यूटर को वाईफाई के द्वारा चला पाएंगे इसके अलावा यह Mobile, Laptop, Tablet, Printer, Smart TVs, Wireless speakers जैसे यंत्रो में ऑनलाइन संचार की व्यवस्था प्राप्त करता है। 

Note – आपको एक इंटरेस्टिंग चीज बताऊँ दरअसल WiFi का कोई फुल फॉर्म नहीं होता है। हालाकिं इंटरनेट पर आपको इसका फुल फॉर्म “Wireless Fidelity” ही मिलेगा पर ऐसा कुछ नहीं है ये वर्ड एक Marketing Agency के द्वारा तैयार किया गया था क्यूंकि Wireless industry एक यूजर फ्रेंडली नाम खोज रहा था जिसे इसे पुकारा जा सके चुकीं ये टेक्नोलॉजी इसे IEEE 802.11 के नाम से जानती है और ये बोलने में यूजर फ्रेंडली बिलकुल भी नहीं है। 

WiFi कितने प्रकार के होते हैं?

  • Wireless Local Area Networks (WLAN)
  • Wireless Metropolitan Area Networks (WMAN)
  • Wireless Personal Area Networks (WPAN)
  • Wireless Wide Area Networks (WWAN)

WiFi Standard In Hindi

WiFi के कई मानक होते है मतलब इसे समय समय पर Develop किया गया है जिसके बारे में निचे विस्तार से जानकारी दी गई है तो आइये जाने। 

IEEE 802.11a – इस Technic को साल 1999 में IEEE द्वारा बनाया गया था जो 5 GHz Frequency पर 54 Mbps Speed से 115 फिट तक काम कर सकता था। 

IEEE 802.11b – इसके बाद इस Technic का अविष्कार साल 1999 में घरेलू उपयोग के लिए किया गया था। जो 5 GHz Frequency पर 11 Mbps Speed से 115 फिट तक काम करता था। 

IEEE 802.11g – wifi के इस टेक्निक का अविष्कार साल 2003 में 802.11a और 802.11b को मिलाकर किया गया था। जो 2.4 GHz Frequency पर 54 Mbps Speed से 125 फिट तक काम करता था। 

IEEE 802.11n – इसे वर्ष 2009 में 2.4 GHz और 5 GHz दोनों Frequency Router (Dual Band Router) पर काम करने के लिए बनाया गया था। इसकी Data Send करने की Speed 54 Mbps और यह 230 फिट तक काम कर करता था। 

IEEE 802.11ac – साल 2009 में इस टेक्निक को बनाया गया था। जो 5 GHz Frequency पर 1.3 Gbps की Speed से 115 फिट तक काम करने में सक्षम था। 

WiFi इस्तेमाल करने के फायदे (Benefit of wifi in hindi)

  • वाईफाई का इस्तेमाल अगर आप अपने मोबाइल में करना चाहते हैं तो उसके लिए आपको किसी प्रकार के तार का इस्तेमाल नहीं करना होगा। 
  • वाईफाई आपको अन्य दूसरे सभी नेटवर्क की अपेक्षा ज्यादा तेज इंटरनेट स्पीड प्रदान करता है।
  • किसी कारण से अगर आपके मोबाइल का डाटा समाप्त हो गया है और आपको कोई आवश्यक डॉक्यूमेंट किसी को भेजना है तो आप अपने एरिया में वाईफाई नेटवर्क को ढूंढ कर अपने मोबाइल को इस से कनेक्ट कर आसानी से अपना काम कर सकते हैं। 
  • WiFi को आप अपने मोबाइल या लैपटॉप में सिर्फ कुछ सेकेंड में ही कनेक्ट कर सकते है।
  • आज के तारीख में कई ऐसे नेटवर्क है जहां पर आप वाईफाई के द्वारा लोगों को Calling कर सकते हैं। 
  • WiFi से अपने फोटो वीडियो आदि को एक दूसरे डिवाइस में आसानी के साथ ट्रांसफर कर सकते है।

WiFi के नुकसान

  • WiFi का उपयोग एक निश्चित एरिया के अंदर ही आप सकते हैं अगर आप उस एरिया से बाहर जाएंगे तो आपका मोबाइल वाईफाई से जो कनेक्ट है उसका कनेक्शन टूट जाएगा और आप मोबाइल में इंटरनेट का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। 
  • WiFi की सिक्योरिटी बहुत कमजोर होती है। इसे कोई भी व्यक्ति आसानी से जान सकता है इसलिए आप अपने वाईफाई का पासवर्ड हमेशा मजबूत रखें ताकि कोई भी आपके Password को Hack ना कर सके। 
  • वाई फाई के कई अलग अलग प्रकार होते है अगर आपके पास सिंगल यूजर WiFi है उसमें आप एक साथ एक से अधिक डिवाइस को जोड़ देते हैं ऐसे स्थिति में आपकी वाईफाई की स्पीड कम हो जाएगी। 

WiFi कैसे काम करता है?

आज के समय मे प्रत्येक Computer, Laptop और Mobile मे wifi लगा रहता है। वाईफाई एक छोटी सी Electronic Chip होती है जिससे Electronic Devices  जैसे की मोबाइल, कंप्यूटर, स्मार्ट टीवी, प्रिंटर इत्यादि में फिट कर दिया जाता है उसके बाद Wireless, Signal को ट्रांसफर करते हैं और इसके singal को राउटर के द्वारा कनेक्ट किया जाता है। 

Routers को भी इंटरनेट से जुड़ने के लिए केबल्स का इस्तेमाल किया जाता है जो कि इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर के साथ जुड़ा हुआ होता है इसमें सबसे बड़ी बात ये है की Wi-fi से निकलने वाली रेडियो तरंगे इतनी मजबूत होती है कि वह किसी भी दीवार के आर पार एक कमरे में भी पहुंच सकती हैं।

और वहां पर अगर आप ने कंप्यूटर या लैपटॉप रखा है तो आप आसानी से उसे कनेक्ट कर सकते हैं यानी आप अपने घर के सभी कमरों में वाईफाई का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

Mobile, Laptop, और Tablet जैसे Electronic devices में wireless Adapter पहले से ही अंदर रहता है। इसी वजह से हम सभी अपने gadgets में WiFi से Internet की सुविधा प्राप्त करते हैं. पर कुछ ऐसे भी इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस है जिनमे पहले से wireless Adapter फिट किया हुआ नहीं रहता है।

जैसे की Desktop तो इसमें wifi का इस्तेमाल करने के लिए Wireless card या Adapter को खरीद कर अपने  desktop के USB port में लगाया जाता है। तब जाकर हमलोग अपने Desktop में भी Internet Access कर पाते है। 

FAQs –

Q. Wifi का पूरा नाम क्या है?

Ans – Wi Fi का फुल फॉर्म Wireless Fidelity होता जिसे हिंदी में “वायरलेस स्थानीय क्षेत्र तंत्र” कहां जाता है।

Q. वाईफाई का जनक कौन है?

Ans – Dr. John O Sullivan और John Deane

Q. वाईफाई और इंटरनेट में क्या अंतर है?

Ans – इंटरनेट एक ग्लोबल कंप्यूटर नेटवर्क है और वाईफाई एक Wireless Network तकनीक है। जो इंटनेट डाटा को रेडियों तरंगके माध्यम से डिवाइस में भेजती है।

Q. वाईफाई का मुख्य उद्देश्य क्या है?

Ans – वाई-फाई एक वायरलेस नेटवर्किंग तकनीक है इसके माध्यम से हम अपने कंप्यूटर, लैपटॉप, डेस्कटॉप और मोबाइल डिवाइस और अन्य कई तरह के उपकरण जैसे की प्रिंटर, वायरलेस स्पीकर इत्यादि जैसे उपकरणों को इंटरनेट के साथ कनेक्ट करने की अनुमति देती है।

उम्मीद करता हूँ आपको ये आर्टिकल WiFi क्या है और ये कैसे काम करता है? WiFi Full Form in Hindi अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा होगा अगर आपको ये जानकारी अच्छा लगा हो तो इसे आप अपने दोस्तों के साथ साथ सोशल मीडिया पर भी जरूर शेयर करें धन्यवाद!

Read More –

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment