ED क्या है? ED Full Form in Hindi

आज कल ED के बारे में खबरे टीवी, न्यूजपेपर में चलते ही रहता है। आपने भी कभी न कभी ED के बारे में जरूर सुना होगा की आज ED ने किसी बड़े बिजनेसमैन, नेता इत्यादि से घर आय से अधिक सम्पति, या मनी लॉन्डरिंग के मामले में छापेमारी किया या किसी नेता, बिजनेसमैन से ED ने कई घंटे पूछताछ की। 

पर बहुत लोगो को ये पता नहीं होता है की ED क्या है, ED का फुल फॉर्म क्या होता है (ED Full Form in Hindi) इसके कार्य क्या है और ED ऑफिसर कैसे बनते है। अगर ये सब आप नहीं जानते है तो आज आप इस लेख के माध्यम से सब कुछ जान पाएंगे। तो चलिए जानते है विस्तार से ईडी के बारे में। 

ED (प्रवर्तन निदेशालय) क्या है? (What is ED in Hindi)

ED full form in hindi

ED (प्रवर्तन निदेशालय) भारत के एक केंद्रीय कानून प्रवर्तन एजेंसी और आर्थिक खुफिया एजेंसी है जो की मुख्य रूप से भारत में आर्थिक कानून लागु करने और आर्थिक रूप में किसी भी तरह के हो रहे क्राइम को रोकने के लिए उत्तरदायी है। सीधे तौर पर कहे तो ये भारत की केंद्रीय वित्तीय जाँच एजेंसी है।

जो की भारत के अंदर हो रहे आर्थिक अपराध जैसे की आय से अधिक सम्पति का होना, मनी लॉन्डरिंग और अन्य कई प्रकार के हो रहे आर्थिक क्राइम को रोकने और समाप्त करने के लिए उत्तरदायी है। ये भारत सरकार के वित् मंत्रालय के अंतर्गत Revenue Department के अधीन आता है। और वर्तमान समय में इसके उत्तरदायी मंत्री श्रीमती निर्मला सीतारमण है। 

ED (प्रवर्तन निदेशालय) का गठन 

ईडी (ED) का गठन 1 मई 1956 ईस्वी को हुआ था। और शुरुआत में इसका नाम Enforcement Unit रखा गया था। फिर साल 1957 में जाकर इसका नाम बदलकर प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) कर दिया गया। वर्तमान समय में इसके महानिदेशक संजय कुमार मिश्रा (IRS) है। 

ED full form in hindi

ED का Full Form “Directorate of Enforcement या Enforcement Directorate” होता है जिसे हिंदी में “प्रवर्तन निदेशालय” कहा जाता है।

ED का क्या काम होता है?

ED एजेंसी का मुख्य काम भारत सरकार के दो कानून पहला Foreign Exchange Management Act 1999 (FEMA), और दूसरा The Prevention of Money Laundering Act 2002 (PMLA) इन दोनों कानूनों को कड़ी से लागु करवाना और दोषी व्यक्तियों के सम्पतियों को जब्त करना और आपराधिक मुक़दमा दर्ज कर कानूनी करवाई करने का अधिकार है। 

इन दोनों कानून में निम्नलिखित बाते निहित है। भारत से विदेश में और विदेश से भारत में आने-जाने वाले संदिग्ध, और अवैध मुद्रा के आवागमन पर नजर रखना, जाँच करना और मनी लॉन्डरिंग के जरिये हो रहे अवैध मुद्रा के आवागमन को रोकना और क़ानूनी करवाई करना। साथ में भारत के व्यक्तियों का आय से अधिक सम्पति, और विदेशो में जमा कालाधन पर पैनी नजर रखना और कानूनी करवाई करना। 

ED का मुख्यालय (ED Headquarter)

वर्तमान समय में ED (Enforcement Directorate) का मुख्यालय भारत की राजधानी नई दिल्ली में स्थित है। इसके अलावा भी ईडी के भारत में कई क्षेत्रीय, जोनल कार्यालय है जो की निम्नलिखित है। 

Regional Office  – मुंबई, चेन्नई, चंडीगढ़, कोलकाता और दिल्ली में मौजूद है। 

Zonal Office – हैदराबाद, मुंबई, जयपुर, जालंधर, चेन्नई, लखनऊ, श्रीनगर, कोलकाता, पटना, बेंगलुरु, अहमदाबाद, दिल्ली, कोच्ची, चंडीगढ़, पणजी, गुवाहाटी में मौजूद है। और इन जोनल कार्यालय के प्रमुख जॉइंट डायरेक्टर होते है 

Sub Zonal Office – नागपुर, प्रयागराज, मंगलुरु, देहरादून, रायपुर, भुबनेश्वर, कोजीकोड, इंदौर, मदुरै, रांची, सूरत, विशाखापत्तनम, शिमला एवं जम्मू में मौजूद है और इन सभी क्षेत्रीय कार्यालय के प्रमुख डिप्टी डायरेक्टर होते है। 

ED के अन्य फुल फॉर्म

  • Emergency Department
  • Effective Date
  • Eating Disorder
  • Erectile Dysfunction
  • Enterprise Development
  • Executive Director
  • Education
  • Edition
  • Editor
  • Economic Development
  • Enumeration District
  • Effective Dose
  • Early Death
  • English Department
  • Environmental Damage
  • Extremely Disappointing
  • Engineering Design
  • Electrodialysis
  • Every Day
  • Early Deployment
  • Effective Diameter
  • Ethyldichloroarsine
  • Efficiency Decoration इत्यादि। 

 ये भी पढ़े –

ED ऑफिसर कैसे बने

ED में समय समय पर जरुरत के अनुसार कई तरह के पदों के लिए वैकेंसी निकाली जाती है। ED के डायरेक्टर, जॉइंट डायरेक्टर, डिप्टी डायरेक्टर इत्यादि मुख्य पदों पर अधिकारी Indian Revenue Service के ऑफिसर होते है। 

पर एक ग्रुप बी लेवल के ऑफिसर Assistant Enforcement Officer (AEO) बनने के लिए Staff Selection commission (SSC) के द्वारा संयुक्त स्नातक स्तर (सीजीएल) की परीक्षा आयोजित की जाती है। इसकी वैकेंसी प्रत्येक साल निकाली जाती है इस परीक्षा को पास कर कोई भी विद्यार्थी ED में ऑफिसर बन सकता है।

इसके लिए कैंडिडेट्स को किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविधालय से ग्रेजुएट होना अनिवार्य है और उम्र सिमा 18 से 30 साल की बिच होना चाहिए। 

ED Salary

SSC (CGL) के द्वारा बनने वाले अफसर Assistant Enforcement Officer (AEO) की सैलरी 7th Pay  कमीशन लागु होने के बाद शुरुआती सैलरी 44,900 होती है। और कई अन्य तरह के भत्ते जुड़कर ये सैलरी श्रेणी X शहरों में 63,186 रूपये और श्रेणी Y शहर में 57,794 रुपए हो जाती है। 

FAQs –

Q. ई डी का पूरा नाम क्या है?

Ans: ED का Full Form Directorate of Enforcement या Enforcement Directorate होता है जिसे हिंदी में प्रवर्तन निदेशालय कहा जाता है।

Q. प्रवर्तन निदेशालय की स्थापना कब की गई थी?

Ans: ED का गठन 1 मई 1956 ईस्वी को किया गया था।

Q. ED (प्रवर्तन निदेशालय) का डायरेक्टर कौन है

Ans: वर्तमान समय में ईडी के डायरेक्टर संजय कुमार मिश्रा है जो की एक IRS ऑफिसर है।

आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल ED क्या है? ED Full Form in Hindi ज्ञानवर्धक लगा होगा, ये आर्टिकल पढ़कर अब आप ED (प्रवर्तन निदेशालय) के बारे में अच्छी तरह से जान गए होंगे, आप इसे अपने दोस्तों के साथ साथ Facebook, Twitter जैसे सोशल मीडिया पर भी जरूर शेयर करे, किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव आप कमेंट में पूछ सकते है, धन्यवाद!

इन्हे भी पढ़े :-

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment