Internship क्या होता है? इंटर्नशिप कैसे करें, जानिए इंटर्नशिप करने के फायदे

अगर आप एक विद्यार्थी हैं और कॉलेज में पढ़ाई करते हैं तो आप लोगों internship का नाम जरूर सुना होगा आप जब किसी भी कॉलेज या विश्वविद्यालय से कोई भी प्रोफेशनल कोर्स करते हैं तो कोर्स से संबंधित प्रैक्टिकल ज्ञान के लिए कॉलेज और विश्वविद्यालय आपको किसी कंपनी या संस्था में भेजती है।

ताकि आपको वहां पर व्यवहारिक (Practical) ज्ञान मिल सके अब आपके मन मे सवाल आएगा कि आखिर में Internship क्या होता है? और इंटर्नशिप करने के क्या फायदे हैं और छात्रों के जीवन में इसका महत्व क्या है अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते तो आप इस Internship क्या होता है? (Internship kya hota hai) लेख को अंत तक जरूर पढ़े तो आइये जानते है। 

Internship क्या होता है? (Internship kya hota hai)

internship kya hota hai
internship kya hota hai

Internship का सीधा सा मतलब होता है कि सीमित अवधि के लिए कार्य करने का अनुभव प्राप्त करना। इस बात को आप ऐसे समझ सकते हैं कि अगर आप किसी भी कंपनी या इंस्टिट्यूट में एक छोटे समय जैसे की तीन, छह या नौ महीने के लिए काम करते है इसलिए ताकि आपको प्रैक्टिकल ज्ञान भी मिल सके तो इसे इंटर्नशिप कहा जाता है इंटर्नशिप करने के बाद आप थोड़ा ही सही पर आप स्किलड हो जाते है आपको अपने क्षेत्र के बारे में थोड़ा बहुत जानकारी मिल जाती है इसे हिंदी में ‘प्रशिक्षुता’ कहते हैं। 

विशेष तौर पर अगर आप MBA, BBA, Engineering, MBBS, इत्यादि का कोर्स कर रहे हैं तो उसमें आपको internship करना आवश्यक होगा। जब आपका इंटर्नशिप पूरा हो जाएगा तब आपको कंपनी, इंस्टिट्यूट के द्वारा आपको एक सर्टिफिकेट दिया जाएगा। 

इसमें इस बात का उल्लेख होगा कि आपने वहां पर किस किस प्रकार का काम किया है और आपको क्या जिम्मेदारी दी गई थी उस काम को आप ने कैसे किया ऐसे तमाम चीजें इस सर्टिफिकेट में लिखी रहेंगे इसके अलावा आपको अपनी खुद की एक रिपोर्ट बनानी होगी और उस रिपोर्ट को अपने कॉलेज या विश्वविद्यालय में सबमिट करना होगा इसके आधार पर आपको कॉलेज, विश्वविद्यालय से internship का मार्क्स दिया जाएगा।

Internship कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Internship)

इंटर्नशिप निम्नलिखित प्रकार के होते है। 

Paid Internship

Paid internship का मतलब होता है जब आप कोई इंस्टिट्यूट, कंपनी में इंटरशिप करेंगे तो वहां पर आपको पैसे भी दिए जाएंगे इस प्रकार के internship बड़े-बड़े संस्थान और कंपनियों के द्वारा दिए जाते हैं ताकि आप अपना पॉकेट खर्च उठा सके जैसे की अगर आप MBBS कोर्स की डिग्री के बाद इंटर्नशिप करते है तो आपको आपके कॉलेज के द्वारा इंटर्नशिप के पैसे भी दिए जाते है। 

Unpaid Internship

इस तरह की इंटर्नशिप में काम करने पर आपको पैसे नहीं मिलते हैं लेकिन आपको कार्य करने का एक Certificate जरूर दिया जाएगा इस प्रकार के इंटरशिप विशेष तौर पर सामाजिक संस्थान और NGO के द्वारा ही करवाए जाते हैं इसके अलावा हॉस्पिटल यूनिवर्सिटी इत्यादि के द्वारा unpaid Internship करवाया जाता है। 

Summer Internship

इस प्रकार के इंटरशिप गर्मी के मौसम में आयोजित किया जाता है और इसमें छोटे बच्चे भाग ले सकते हैं यहां पर उनको सीखने को भी बहुत कुछ मिलेगा इस प्रकार के internship फुल टाइम और पार्ट टाइम दोनों तरीके से कर सकते हैं इनकी समय अवधि 1 महीने से लेकर 1 साल के बीच होती है। 

Work Research Internship

इस तरह की इंटर्नशिप मुख्यतः फाइनल इयर (Final year) के स्टूडेंट करते हैं। इसमें इंटर्न कंपनी और संस्थान के ऊपर Research करना पड़ता है और उसके बाद अपनी रिसर्च रिपोर्ट को अपने कॉलेज, संस्थान में सबमिट करना पड़ता है उसके आधार पर उन्हें नंबर यहां पर दिए जाते हैं। 

Virtual Internship

वर्चुअल इंटरशिप का मतलब होता है कि आप यहां ऑनलाइन तरीके से internship पूरा कर पाएंगे। 

Internship कैसे करें?

इसके लिए आपको निम्नलिखित प्रकार के प्रक्रियाओं का अनुसरण करना होगा जिसका विवरण हम आपको नीचे बिंदु अनुसार दे रहे है आइये जाने। 

कॉलेज या यूनिवर्सिटी की मदद से

अगर आप किसी बड़े कॉलेज या यूनिवर्सिटी में पढ़ाई कर रहे हैं तो आपको internship ढूंढने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि इन कॉलेज और यूनिवर्सिटी में कंपनियां आकर छात्रों को अपने कंपनी में internship ने के लिए Hire करती हैं  इसके लिए वो एक छोटा सा इंटरव्यू लेंगे। 

अगर आप इंटरव्यू में क्वालीफाई कर जाते हैं तभी जाकर आपको इन कंपनियों में इंटरशिप करने का अवसर मिल पाएगा इसके विपरीत अगर कॉलेज या यूनिवर्सिटी में कोई भी एक कंपनी इंटरशिप के लिए नहीं आती है तो आप अपने कॉलेज और विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट सेल से संपर्क कर सकते हैं वहां से आपको internship ढूंढने में मदद मिलेगी। 

आप खुद किसी कंपनी में internship करने के लिए आवेदन करें

आपको यदि आपके कॉलेज या यूनिवर्सिटी से internship करने का मौका नहीं मिला है तो आप खुद ही किसी कंपनी या संस्थान में इंटर्नशिप करने के लिए आवेदन कर सकते हैं इसके लिए आपको सबसे पहले आप अपने स्ट्रीम से संबंधित कोई कंपनी या संस्थान का चयन करना होगा।

जहां पर आप इंटर्नशिप के लिए अप्लाई कर पाए उदाहरण के तौर पर मान लीजिए कि आपने रिटेल से संबंधित कोर्स किया है तो आप अपने ऐसे दोस्त या सगे संबंधी से संपर्क करें जो रिटेल सेक्टर में काम करते हो और उनसे बातचीत कर आप उनके कंपनी में internship के लिए आवेदन कर दें। 

ऑनलाइन तरीके से internship खोज सकते हैं

आज जमाना ऑनलाइन का है और आज आप ऑनलाइन तरीके से कोई भी चीज को आसानी से खोज सकते हैं ऐसे में अगर आप internship करना चाहते हैं तो इसके लिए आप निचे दिए गए वेबसाइट का उपयोग कर सकते हैं जहां पर आपको आसानी से internship का काम मिल सकता है। 

  • (internshala.com)
  • LinkedIn (in.linkedin.com)
  • stuMagz (stumagz.com)
  • Glass Door (glassdoor.co.in)
  • LetsIntern (www.letsintern.com)

Internship करने के फायदे

  • इसके द्वारा आपको काम करने का अनुभव प्राप्त होता है और आपको ये समझ में आता है कि आप जो कोर्स कर रहे हैं उससे संबंधित आपको क्या-क्या काम करने पड़ सकते हैं जब आपकी जॉब लग जाएगी। 
  • इसके माध्यम से आपके अंदर हुनर का विकास होता है और आप समझ पाते हैं कि आप कौन से क्षेत्र में कमजोर है और कौन से क्षेत्र में मजबूत है इसके अलावा आप जिसके अंतर्गत काम करते हैं उससे भी आपको एक फीडबैक प्राप्त होता है कि आप कहां-कहां पर गलती कर रहे हैं और कहां-कहां पर आप को सुधार की जरूरत है इससे आप अपने अंदर जो भी कमियां है उसे दूर कर पाएंगे। 
  • जैसा कि मैंने आपको बताया कि कई प्रकार की इंटरशिप ऐसी भी होती है जहाँ पर आपको पैसे भी मिलते हैं इसलिए इसके माध्यम से आप पैसे भी कमा सकते हैं। 
  • जहां पर आप इंटरशिप कर रहे हैं अगर वहां पर आपका परफॉर्मर्स अच्छा रहा है तो आपको उसी कंपनी में नौकरी भी मिल जाती है। 
  • Work environment के बारे में भी आपको जानकारी मिलती है की आ को काम किस प्रकार करना है और आपका जो भी Boss होगा वह आपके साथ कैसा व्यवहार करेगा आपको अपने सीनियर से कैसी बात करनी है ऐसे तमाम छोटी-छोटी चीजें आप internship के माध्यम से सीख सकते हैं। 
  • Internship करने से छात्रों का आत्मविश्वास बढ़ता है इसकी प्रमुख वजह है इस दौरान आप जो भी चीजें सीखते हैं वो आपको आने वाले भविष्य में काम आएंगे। 

Internship के दौरान ध्यान रखने वाली बातें

  • आप हमेशा प्रोफेशनल भाषा का प्रयोग करें और अपना व्यवहार काफी शालीन और शांत रखें कभी भी दूसरों के साथ गलत व्यवहार ना करें इसका गलत इंपैक्ट आपके internship रिपोर्ट पर पड़ेगा। 
  • समय का पाबंद होना आवश्यक है और अनुशासन का पालन करें। 
  • कंपनी के नियम और वातावरण को अच्छी तरह से समझे ताकि आप कंपनी के नियम और वहां का वातावरण कैसा है उसके मुताबिक आप अपने आपको एडजेस्ट कर सके। 
  • अपनी जिम्मेदारी को अच्छी तरह समझे और जो भी जिम्मेदारी आपको दिया जाए उसे बखूबी निभाया इसकी प्रमुख वजह है कि मान लीजिए आप जिस कंपनी में internship कर रहे हैं उसी में अगर आपका इंटरव्यू जॉब के लिए आयोजित किया जाए और आपसे पूछा जाए कि आप जब यहां पर इंटरशिप के लिए आए थे तो आपने कौन-कौन से काम किए और आपने उस जिम्मेदारी को कैसे निभाया अगर आप उन सभी सवालों के जवाब अच्छी तरह से देते हैं तो आपको इस कंपनी में जॉब मिल सकती है नहीं तो जॉब आप आपके हाथ से जा सकती है। 
  • नोट्स बनाए, सवाल पूछें और फीडबैक लें यानी आप यहां पर हमेशा सवाल पूछे अगर आपको कोई भी चीज समझ में नहीं आता है इसके अलावा आपको नोट्स भी बनाने चाहिए जिसमें आप तमाम चीजें लिखेंगे जो काफी महत्वपूर्ण है जिसका इस्तेमाल आपको भविष्य में करना है इसके अलावा आप हमेशा अपने Senior से वहां पर फीडबैक प्राप्त करें ताकि आपको समझ में आएगा कि आप गलत या सही काम कर रहे हैं और अगर गलत कर रहे हैं तो उसे आप कैसे ठीक कर सकते हैं। 
  • कंपनी के कर्मचारी और अन्य इंटर्न्स के साथ नेटवर्क बनाए इसका फायदा यह होगा कि आपको यहां पर नौकरी प्राप्त करने में आसानी होगी। 
  • कुछ लोग इंटर्नशिप को सिर्फ पैसा कमाने का एक अच्छा जरिया समझते हैं. उन लोगों को पहले ये समझना होगा की internship का मतलब पैसा कमाना नहीं है बल्कि आप यहां पर जितना अधिक काम को सीखेंगे उतना ही आपको भविष्य में इसका लाभ मिल पाएगा इसलिए आप हमेशा काम सीखने के लिए ही internship करें ना कि पैसे कमाने के लिए। 

FAQs –

Q. इंटर्नशिप किसे कहते है?

Ans – जब आप किसी कॉलेज या यूनिवर्सिटी से प्रोफेशनल डिग्री या टेक्निकल डिग्री जैसे की MBA, BBA, MCA, BCA, B.TECH, MBBS इत्यादि कोर्स करते है तो कोर्स के लास्ट ईयर में इन कोर्स के स्टूडेंट्स को इंटर्नशिप करना पड़ता है। आप इसे एक तरह का ट्रेनिंग प्रोग्राम कह सकते है। जिसमे आपको प्रैक्टिकल नॉलेज सिखाया जाता है मतलब की यहाँ पर आपको एक्चुअल में सिखाया जाता है की जब आप जॉब के लिए जाओगे तो आपको वहाँ क्या क्या काम करना पड़ेगा, आप टीम को लीड कैसे करोगे इत्यादि तो इंटर्नशिप वाकई में बहुत ही जरुरी है जॉब से पहले।

Q. इंटर्नशिप का उद्देश्य क्या है?

Ans – इंटर्नशिप का सीधा सा उद्देश्य ये है की आप वो सभी प्रैक्टिकल ज्ञान सिख लो जिसे आप अपने कोर्स के बाद किसी कंपनी या संस्थान में जाकर करोगे। स्टूडेंट्स को को नॉकरी में जाने से पहले वर्क एक्सपीरियंस करना ही इंटर्नशिप का मुख्य उद्देश्य है ताकि वो जब जॉब करे तो तो सारी चीजों से अनजान ना रहे, इंटरशिप के बाद स्टूडेंट्स को ट्रेनिंग का सर्टिफिकेट दिया जाता है।

Q. इंटर्नशिप के क्या फायदे हैं?

Ans – इंटर्नशिप के कई फायदे है जैसे की आपको Practical Knowledge मिलता है जिसे जॉब पाने में हेल्प होती है। आपका कम्युनिकेशन स्किल डेवेलप होता है आपको बहुत सारी आपके वर्क क्षेत्र के बारे में नई नई जानकारी मिलती है इसके साथ ही आपको जॉब कल्चर के बारे में पता चलता है की कैसे आप अपने आर्गेनाईजेशन में काम करोगे। कही कही आपको इंटर्नशिप करने पर stipend भी दिया जाता है।

उम्मीद करता हूँ आपको ये आर्टिकल Internship क्या होता है? (Internship kya hota hai) अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा होगा अब आप इंटर्नशिप से सम्बन्धीत अच्छी खासी जानकारी जान गए हो इसे आप अपने दोस्तों, रिश्तेदारों के साथ भी जरूर शेयर करें, किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव आप कमेंट में पूछ सकते है, धन्यवाद।

Read More –

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment