PhD Full Form in Hindi | PhD का फुल फॉर्म क्या है? पीएचडी फीस, योग्यता, सैलरी, फायदे क्या है।

दोस्तों आज की तारीख में हर कोई चाहता है कि अपने जीवन में उच्च शिक्षा हासिल करें ताकि उसे अच्छी खासी नौकरी मिले और सम्मान की समाज में उसे मिले क्योंकि आज की तारीख में अगर कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा पढ़ा लिखा है तो समाज में उसे काफी सम्मान जनक दृष्टि से देखा जाता है और लोगों का एक आम धारणा है कि यह काफी ज्ञानी व्यक्ति होगा ऐसे में आप लोगों ने देखा होगा कि कई लोग डॉक्टर नहीं होते हैं।

लेकिन उनके नाम के आगे डॉक्टर शब्द लगाया जाता है अब आपके मन मे सवाल आएगा कि आखिर में ऐसा होता कैसे तो मैं आपको बता दूं कि अगर कोई व्यक्ति पीएचडी की डिग्री हासिल करता है तो उसके नाम के आगे डॉक्टर शब्द का इस्तेमाल किया जाएगा।

अब आपके मन में जो आएगा कि आखिर में पीएचडी का फुल फॉर्म क्या होता है और आप phd का कोर्स कहां से करेंगे कौन-कौन से विषय में आप पीएचडी कर सकते हैं अगर आप इसके बारे में कुछ भी नहीं जानते हैं तो आप ये लेख PhD Full Form in Hindi (PhD का फुल फॉर्म क्या है) को अंत तक जरूर पढ़े। 

PhD क्या होता है?

phd full form in hindi
phd full form in hindi

पीएचडी (PhD) कोर्स एक उच्च स्तरीय का डिग्री होता है। ये विश्व स्तर पर एक मान्यता प्राप्त कोर्स/डिग्री है। जिसे आमतौर पर इसके छात्र को तब दिया जाता है। जब वो अपने शोध के विषय, थीसिस को सफलतापूर्वक पूरा और जमा करते है। कैंडिडेट्स के शोध कार्य की गहन जांच के बाद यूनिवर्सिटी द्वारा यह डिग्री प्रदान की जाती है।

आम तौर पर पीएचडी कोर्स को की अवधि तीन वर्षो की होती है। हालाकिं कैंडिडेट्स इस कोर्स को पूरा करने के लिए अधिकतम पांच से छः सालों का समय दिया जाता है।

इस डिग्री को हासिल करने के बाद आप तो किसी भी विषय के एक्सपोर्ट और जानकार माने जाएंगे यानि कहने का मतलब है कि अगर आपने इतिहास विषय में पीएचडी किया है तो आप इतिहास के ज्ञाता माने जाएंगे यानी आपने पास इतिहास के बारे में गहन नॉलेज होगी। 

Full Form of PhD in Hindi

PhD का Full form “Doctor of Philosophy” होता है जिसे Short form में पीएचडी (PhD) कहा जाता है। PhD Full Form in Hindi होता है “डॉक्टर ऑफ़ फिलोसोफी। सामान्य तौर पर पीएचडी कोर्स तीन सालो का होता है। 

इस कोर्स को करने के बाद आप उस विषय के एक्सपर्ट और जानकार माने जाएंगे जिस विषय में आपने पीएचडी किया है। पीएचडी को हम लोग डॉक्टरेट डिग्री के नाम से भी जानते हैं. पीएचडी करने के बाद आपके नाम के आगे Dr. शब्द का इस्तेमाल किया जाता है। 

PhD के लिए क्या योग्यता चाहिए?

पीएचडी कोर्स करने के लिए कुछ क्वालिफिकेशन का होना जरुरी है जो की निम्न है। 

  • पीएचडी कोर्स करने के लिए आपके पास मास्टर डिग्री होना आवश्यक है। हालाकिं कुछ विषयों में पीएचडी करने के लिए कैंडिडेट्स के पास M.Phil के डिग्री भी मांगी जाती है। 
  • मास्टर डिग्री (Post Graduation) में आपके 55% नंबर होने आवश्यक होंगे तभी जाकर आप PhD कोर्स में एडमिशन ले पाएंगे। Sc, St कैंडिडेट्स के लिए 50% अंक होने जरुरी है। 
  • भारत के कुछ बेहतरीन यूनिवर्सिटी से पीएचडी कोर्स करने लिए कैंडिडेट्स को NET (National Eligibility Test) एग्जाम क्वालीफाई करना होगा। 
  • पीएचडी कोर्स में एडमिशन के लिए आपको एंट्रेंस टेस्ट पास करना होगा। इसके साथ साथ कई यूनिवर्सिटीज में कैंडिडेट्स का इंटरव्यू भी लिया जाता है। 
  • इंजीनियरिंग, टेक्नोलॉजी के फील्ड में पीएचडी करने के लिए कैंडिडेट्स को GATE (Graduate Aptitude Test in Engineering) का वैलिड स्कोर होना आवश्यक है। इसके साथ साथ कैंडिडेट्स को अपना M.Tech/M.E कोर्स पूरी होनी आवश्यक है। 

PhD कोर्स में एडमिशन लेने के लिए कौन से एग्जाम देने होंगे?

अगर आप पीएचडी के कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं तो इसके लिए आपको net का एग्जाम देना होगा और इस एग्जाम को पास करने के बाद ही आपका पीएचडी के कोर्स में दाखिला होगा। इसके अलावा पीएचडी के कोर्स में दाखिला लेने के लिए अन्य प्रकार के भी एग्जाम आपको देने पड़ सकते हैं।

यह इस बात पर निर्भर करता है कि आप किस विश्वविद्यालय में पीएचडी के कोर्स में एडमिशन लेना चाहते हैं उसके अनुरूप यहां पर आपको एग्जाम देने होंगे. Phd के कोर्स में एडमिशन लेने के लिए दूसरे प्रकार के एग्जाम का विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं जो इस प्रकार है। 

  • JRF
  • DBI
  • NCBS
  • ICMR JRF
  • JNJ PHD

PhD की फीस कितनी होती है?

अगर आप एचडी का कोर्स करना चाहते हैं तो आपके मन में सवाल जरूर आएगा कि पीएचडी के कोर्स करने में फीस कितनी लगेगी तो मैं आपको बता दूं कि अगर आप प्राइवेट कॉलेज या विश्वविद्यालय के माध्यम से पीएचडी का कोर्स कर रहे हैं तो यहां पर आपको ₹600000 फीस के तौर पर देनी होगी।

इसके विपरीत अगर आप सरकारी विश्वविद्यालय या कॉलेजों से पीएचडी का कोर्स कर रहे हैं तो यहां पर आपको ₹300000 की फीस देनी पड़ सकती है इसलिए यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप अपना पीएचडी कोर्स प्राइवेट कॉलेज, यूनिवर्सिटी या सरकारी विश्वविद्यालय या कॉलेज से उसके अनुरूप ही आपको यहां पर फीस भुगतान करना होगा। 

पीएचडी में कौन कौन विषय से आप कर सकते है?

पीएचडी आप विभिन्न प्रकार के विषयों में कर सकते हैं आपका जिस विषय में रुचि है आप उस विषय में पीएचडी कर सकते हैं। यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप कौन से सब्जेक्ट में पीएचडी कोर्स करना चाहते हैं वर्तमान समय में  आप पीएचडी कोर्स 258 विषय से कर सकते है निचे कुछ पॉपुलर विषयों की लिस्ट दी गयी है। 

  • PH.D. (PHYSICS)
  • PH.D. (CHEMISTRY)
  • PH.D. (MATHEMATICS)
  • PH.D. (BIOTECHNOLOGY)
  • PH.D. (ZOOLOGY)
  • PH.D. (ENGLISH)
  • PH.D. (ECONOMICS)
  • PH.D. (HISTORY)
  • PH.D. (Engineering)
  • PH.D. (FINANCE)
  • PH.D. (AGRICULTURE)
  • PH.D. (LAW)

इसके अलावा जितने भी विषय है जैसे की आर्ट्स के विषय सोशियोलॉजी, साइकोलॉजी, भूगोल इत्यादि उसी तरह विज्ञानं के सभी विषय, Management, Commerce, Medical, Law, Fine Arts, Architecture, Agriculture, Journalism, Pharmacy, Biochemistry, Nursing, Fashion Designing, Computer Application, Education, Hospitality इत्यादि तमाम विषयों से आप पीएचडी कोर्स कर सकते है। 

पीएचडी कितने साल का कोर्स है?

सामान्यतः पीएचडी कोर्स की अवधी तीन सालों की होती है। इस कोर्स को पूरी करने के लिए कैंडिडेट्स को अधिकतम पांच से छः सालों का समय दिया जाता। है उसके अंदर ही आपको पीएचडी का कोर्स पूरा कर लेना होगा। हालाकिं पीएचडी कोर्स की अवधी अलग-अलग यूनिवर्सिटी में अलग-अलग हो सकती है।

PhD करने की उम्र सीमा क्या है?

पीएचडी कोर्स की डिग्री हासिल करने के लिए आपकी उम्र 55 साल से नीचे होनी चाहिए तभी जाकर आप PhD डिग्री हासिल कर पाएंगे। मतलब ये की जिस किसी को भी पीएचडी कोर्स करना है उनकी उम्र 55 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए। 

PhD course कैसे कर सकते है?

दोस्तों अगर आप पीएचडी कोर्स करना चाहते हैं तो आप को सबसे पहले अपना एक लक्ष्य शुरुआती और पहले निर्धारित करना होगा जब आप 12वीं की कक्षा में अपना एडमिशन करवाएंगे तभी आप को इस बात को निश्चित करना होगा कि आप किस सब्जेक्ट में पीएचडी कोर्स करना चाहते हैं उसके अनुरूप ही आपको आगे की पढ़ाई करनी होगी इसकी बारे में बिंदुवार जानकारी निचे दी गई है। 

12वीं की कक्षा में विषय का चयन करें

जब आप 12वीं की कक्षा में जाएंगे तो आपको उस विषय का चयन करना होगा जिसमें आपको पीएचडी करना है ताकि आपको मालूम है कि आप किस सब्जेक्ट में आगे चलकर पीएचडी डिग्री हासिल करना चाहते हैं। उस विषय में आपका रुचि भी होना आवश्यक है तभी जाकर आप उस सब्जेक्ट में अच्छी तरह से पीएचडी कर पाएंगे और आपको सफलता प्राप्त होगी। 

ग्रेजुएशन डिग्री में विषय का चयन करना

12वीं कक्षा पास करने के बाद जब आप अपना एडमिशन ग्रेजुएट में करवाएंगे तो आपको इस बात का ध्यान देना होगा कि आप उसी सब्जेक्ट में अपना एडमिशन कब आए जिस सब्जेक्ट में आप आगे चलकर पीएचडी डिग्री हासिल करना चाहते हैं.

Master degree की पढाई पुरी करें 

अपनी मास्टर डिग्री आप उसी सब्जेक्ट में करेंगे जिसमें आपको पीएचडी करना है क्योंकि मास्टर डिग्री के बाद ही आपको पीएचडी डिग्री में एडमिशन लेना होता है ऐसे में मास्टर डिग्री में आप अच्छे नंबर से पास करें ताकि आपको पीएचडी कोर्स के एडमिशन में कोई दिक्कत या परेशानी ना आए। 

यूजीसी नेट परीक्षा उत्तीर्ण करें 

पीएचडी कोर्स में एडमिशन लेने के लिए आपको UGC के द्वारा आयोजित की जाने वाली नेट एग्जाम को पास करना होगा अभी जाकर आपका एडमिशन पीएचडी कोर्स में हो पाएगा नेट एग्जाम साल में दो बार आयोजित किए जाते हैं और इस एग्जाम को पास करने के बाद ही आप सभी प्रकार के भारत के विश्वविद्यालय में पीएचडी के कोर्स में दाखिला करवा पाएंगे.

PhD की प्रवेश परीक्षा पास करें

जब आप किसी भी विश्वविद्यालय में एचडी के कोर्स में एडमिशन कब आएंगे तो वहां पर आपको प्रवेश परीक्षा पास करनी होगी उसके बाद ही आप को दाखिला उस विश्वविद्यालय में मिल पाएगा या सबसे आखिरी परीक्षा होती है इस परीक्षा को पास करने के बाद आपका एडमिशन पीएचडी में हो जाएगा.

पीएचडी करने के क्या फायदे हैं?

पीएचडी कोर्स करने के निम्नलिखित फायदे है। 

  • पीएचडी कोर्स करने के बाद आप अपने फील्ड के बहुत बड़े जानकर बन जायेंगे। यानि की आपके उस सब्जेक्ट के एक्सपर्ट कहलायेंगे। 
  • आपके किये हुए शोध को देश विदेश में प्रसिद्धि मिल सकती है। और आपके शोध टॉपिक को किताबे, मैगज़ीन्स इत्यादि में शामिल भी किया जा सकता है। 
  • पीएचडी कोर्स करने के बाद आपके नाम के आगे Dr. शब्द का इस्तेमाल किया जायेगा। यानि की 
  • आपको डॉक्टरेट की उपाधि मिल जाएगी। 
  • पीएचडी कोर्स करने के बाद आप कॉलेज, यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर भी बन सकते है। 
  • जैसे ही आप पीएचडी कोर्स में एडमिशन ले लेते हो तो आपको Stipend के रूप में 30 से 35 हजार रूपये महीने मिलेंगे। जिससे आपके पढाई के खर्चे निकल सके। 
  • पीएचडी कोर्स के करने के बाद समाज का नजरिया भी आपके प्रति बदल जाता है। लोग आपको समाज में अच्छे नजर से देखेंगे और लोग आपको रोल मॉडल के रूप में भी मानेंगे। 

PhD course करने के सर्वश्रेष्ठ विश्वविद्यालय। 

  • Indian Statistical Institute (ISI)
  • Indian Institute of Science, Bangalore
  • Chennai Mathematical Institute
  • Tata Institute of Fundamental Research
  • Institute of Genetic Engineering Badu – Kolkata
  • University of Calcutta
  • Jawaharlal Nehru University
  • KCG College of Technology, Chennai
  • Jamia Milia Islamia University, New Delhi
  • Institute of Technical and Professional Studies, Kolkata
  • Banaras Hindu University
  • Amity University Noida
  • Christ University Bangalore

PhD course करने के बाद नौकरी की संभावना क्या है?

अगर आप पीएचडी का कोर्स कर लेते हैं तो आपके पास नौकरी के असीम संभावना है और आप विभिन्न प्रकार के क्षेत्रों में अपनी सेवाएं दे सकते है। उन सब का विवरण हम आपको नीचे दे रहे हैं जो इस प्रकार है। 

  • Educational Institutes
  • Newspapers and Magazines
  • Consultancy
  • Philosophical Journals
  • Publishing Houses
  • Human Services Industry
  • Research Institutes
  • Writer
  • Lecturer
  • Researcher
  • Engineering Technologist
  • Electrical Product Design Engineer
  • Novelis
  • Schools
  • Private Tuitions
  • Home Tuitions, Museums
  • College
  • Law firms
  • Educational Institutes
  • Newspapers and Magazines
  • Consultancy
  • Philosophical Journals
  • Publishing Houses
  • Critic
  • Scientist
  • Independent Consultants
  • Development and Test Engineers
  • Editors
  • Professor
  • Human Services Worker
  • Philosophical Journalist

FAQs –

Q. क्या पीएचडी के लिए नेट जरूरी है?

Ans – जी नहीं पीएचडी के लिए नेट जरुरी नहीं है। पर ये आपके करियर के लिए एक्स्ट्रा क्वालिफिकेशन के रूप में काम करेगा। पर अगर आप यूनिवर्सिटी में प्रोफेसर बनना चाहते है तो इसके लिए आपको नेट की परीक्षा पास करना अनिवार्य है।

Q. पीएचडी की सैलरी कितनी है?

Ans – पीएचडी करने के बाद औसतन आप 5 से 10 लाख वार्षिक सैलरी से शुरुआत हो सकती है।

Q. पीएचडी करने के बाद क्या कर सकते है?

Ans – पीएचडी करने के बाद आप चाहे तो नेट की परीक्षा पास कर यूनिवर्सिटीज में प्रोफेसर बन सकते है। इसके अलावा आप रिसर्च संस्थान में रिसर्च स्कॉलर के रूप में भी काम कर सकते है।

निष्कर्ष – तो आज के इस PhD Full Form in Hindi आर्टिकल में आपने जाना की पीएचडी कोर्स क्या होता है। पीएचडी कोर्स करने के फायदे क्या है। इसके साथ साथ आपने पीएचडी के बारे में विस्तारपूर्वक जाना, अगर ये लेख अच्छा लगा हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ साथ सोशल मीडिया पर भी जरूर शेयर करें, किसी भी प्रकार का सवाल, सुझाव आप कमेंट में पूछ सकते है।

इन्हें भी पढ़े –

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment