पीएलआई (PLI) योजना क्या है और इससे क्या फायदा होगा? PLI Scheme in Hindi 2022

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा देश में Production और Manufacturing सेक्टर को आत्मनिर्भर (Atmanirbhar) बनाने के उद्देश्य PLI Scheme का शुभारंभ किया गया है इसकी घोषणा साल 2020 में छठवीं गवर्निंग काउंसिल की बैठक में किया गया. इसका प्रमुख लक्ष्य है देश में स्वदेशी वस्तुओं का निर्माण अधिक से अधिक हो ताकि विदेशों से आने वाली चीजों की मात्रा में कटौती की जाए।

छठ गवर्निंग काउंसिल में सभी राज्य के मुख्यमंत्रियों को संबोधित करते हुए देश के माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने जी ने कहा कि हमारे देश को Manufacturing हब बनाने के लिए स्वदेशी वस्तुओं के निर्माण पर जोर देना होगा।

अब आप आपके मन में सवाल आएगा Pli Scheme क्या है इसका पूरा नाम क्या है इसकी स्थापना के पीछे का उद्देश्य क्या है इससे देश को क्या फायदे होंगे। इन सभी सवालों के जवाब जानने के लिए इस आर्टिकल पीएलआई (PLI) योजना क्या है? (PLI Scheme In Hindi) को अंत तक जरूर पढ़े तो आइये जाने। 

पीएलआई स्कीम क्या होती है? (PLI Scheme In Hindi)

pli scheme in hindi

PLI Scheme केंद्र सरकार के द्वारा संचालित की जाने वाली एक जनहितकारी और लोकप्रिय योजना है इसकी शुरुआत साल 2020 में आत्मनिर्भर भारत कैम्पेन के तहत किया गया था। जिसके तहत सरकार देश में जितने भी Production और Manufacturing कंपनियां है उन्हें आर्थिक सहायता के तौर पर1.97 लाख करोड़ रुपये का इंसेंटिव सरकार के द्वारा दिया जाएगा। 

ताकि देश में स्वदेशी वस्तुओं के उत्पादन में वृद्धि किया जा सके और भारत को एक मैन्युफैक्चरिंग देश के रूप में विश्व के पटल पर लाया जा सके. इस योजना के तहत अगर कोई कंपनी Manufacturing का Business शुरू करना चाहती है तो सरकार उसे यहां पर आर्थिक सहायता देगी। 

इसके लिए देश के 13 क्षेत्रों का चयन किया गया और साथ में सरकार ने कहा है कि आने वाले 5 साल में अगर कोई कंपनी मैन्युफैक्चरिंग कंपनी के तौर स्थापित हो जाती है तो सरकार उसे 1.46 लाख करोड़ का Incentive और cash प्रदान करेगी सबसे महत्वपूर्ण बात है कि सरकार ने ऑफर विदेशी कंपनियों को भी दिया है। 

PLI Scheme के अंतर्गत कौन कौन से सेक्टर को शामिल किया गया है?

  • ऑटोमोबाइल उत्पाद
  • नेटवर्किंग उत्पाद
  • खाद्य प्रसंस्करण
  • उन्नत रसायन विज्ञान
  • टेलिकॉम सेक्टर
  • फार्मा सेक्टर
  • सोलर पीवी निर्माण

PLI Scheme Full Form in hindi

 PLI Scheme का Full Form “Production Linked Incentive Scheme” होता है है इसकी शुरुआत साल 2020 में आत्मनिर्भर भारत कैम्पेन के तहत किया गया था। 

 PLI Scheme का प्रमुख उद्देश्य क्या है?

इस योजना को शुरू करने का प्रमुख उद्देश्य देश को आत्मनिर्भर बनाना है इसके अलावा और भी उद्देश्य की पूर्ति के लिए सरकार ने इस योजना का शुभारंभ किया है उन सब का विवरण हम आपको नीचे बिंदु आंसर देंगे आइए जानते हैं। 

घरेलू विनिर्माण को बढ़ावा देना

इस योजना के द्वारा सरकार विभिन्न प्रकार के उत्पादक क्षेत्र में नए-नए मैन्युफैक्चरिंग यूनिट को स्थापित करने के लिए पैसे उपलब्ध करवाएगी ताकि भारत में स्वदेशी चीजों का उत्पादन बढ़ सके। 

विभिन्न देशी-विदेशी कंपनियों के आने से रोजगार के अवसर भी प्राप्त होंगे

जैसा कि आपने जानते हैं कि सरकार के द्वारा विदेशी कंपनियों को भी इस प्रकार के ऑफर किए गए हैं कि अगर वह भारत में अपना मैन्युफैक्चरिंग यूनिट स्थापित करते हैं तो सरकार उनको भी आर्थिक सहायता के तौर पर पैसे प्रदान करेगी ऐसे में अगर विदेशी कंपनियां भारत में आती हैं तो रोजगार की असीम संभावनाएं उत्पन्न होंगी इससे देश में रोजगार की समस्या को भी कुछ हद तक कम किया सकेगा और युवाओं को रोजगार मिल पाएगा। 

निर्यात को बढ़ाना आयात को कम करना

जैसा कि आप लोग जानते हैं कि India दुनिया का सबसे बड़ा Consumer Market है इसलिए भारत को अपने दैनिक जरूरत को पूरा करने के लिए कई चीजों को बाहर से अपने देश में आयात (Import) करना पड़ता है जिससे भारत सरकार को अधिक पैसे खर्च करने पड़ते है। 

इसलिए सरकार ने अब आयात को कम करने के लिए भारत में है वह सभी प्रकार के चीजों का उत्पादन हो सके जिससे भारत को बाहर से कोई समान खरीदना ना पड़े या काफी हद तक आयात को कम किया जा सके इसके अलावा अगर भारत अपने यहां उन सभी चीजों का Production अधिक मात्रा में करता है।

तो भारत उन चीजों को बाहर में भी भेज (Export) कर पैसे कमा सकता है इसका सबसे बड़ा उदाहरण है कि Brahmos Missile जिसे वह दुनिया के दूसरे देशों को बेच सकता है हालाकिं इसके लिए उसे रूस की मंजूरी की आवश्यकता पड़ेगी क्योंकि ब्रह्मोस मिसाइल भारत और रूस की साझेदारी में बनाया गया है। 

पीएलआई से क्या फायदा है? (Benefits of PLI Scheme)

  • PLI योजना की मदद से भारतीय निर्माताओं को वैश्विक प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार करना है ताकि भारत के द्वारा बनाया गया Product  विश्व के बाजारों में आसानी से Sell किया जा सके। 
  • इस Scheme के माध्यम से भारत को एशिया का वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का अभिन्न अंग बनाना है ताकि भारत एशिया के सभी देशों में अपने प्रोडक्ट को बेचकर अच्छा खासा मुनाफा कमा सके। 
  • इस योजना के माध्यम से अपने देश मे रोजगार के नये अवसर उत्पन्न होंगे और यह बेरोजगारी दर में कमी लाएगा। 
  • भारत में जब अधिक वस्तुओं का उत्पादन होगा तो भारत इन सभी वस्तुओं का निर्यात दूसरे देशों में कर पाएगा ताकि हम विदेशी कंपनियों से प्रतिस्पर्धा कर सके। 
  • विनिर्माण (Manufacturing) क्षेत्र को बढ़ावा मिलने से और विनिर्माण इकोसिस्टम के निर्माण से देश में एमएसएमई (MSME) क्षेत्र के साथ बैकवर्ड लिंकेज भी स्थापित होंगे।

PLI  Scheme कैसे काम करती है?

आपको बता दें कि पीएलआई योजना यानी प्रोडक्शन लिंक्ड इन्सेन्टिव स्कीम को अलग अलग विनिर्माण क्षेत्रों के लिए शुरू किया जा चुका है। यह कैसे काम करेगी इसकी जानकारी नीचे दी गयी है। 

PLI Scheme for Mobiles Manufacturing

पीएलआई योजना के अंतर्गत भारत को Mobile, Hardware और Software निर्माण में ग्लोबल मैन्युफैक्चरिंग Hub बनाने के लिए प्रोत्साहित करना है जो कंपनियां भारत में मोबाइल हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर से जुड़े हुए चीजों का उत्पादन कर उसे बाहर के देशों में Export करेंगे तो सरकार ऐसे कंपनियों को इस योजना के अंतर्गत Inentive प्रदान करेगी ताकि उनका और भी ज्यादा Developement हो सके। 

PLI Scheme for Telecom Equipment Manufacturing Department

17 फरवरी 2021 को पीएलआई योजना Telecom और Networking से जुड़े सामान बनाने वाले कंपनियों के लिए भी शुरू किया गया है ताकि Telecom सेक्टर के क्षेत्र में भी भारत आत्मनिर्भर बन सके इसके लिए सरकार ने 12195 करोड़ रूपए का बजट केन्द्रीय कैबिनेट ने तैयार किया है। इसके अलावा इस सेक्टर में 3 हजार करोड़ रुँपये का निवेश किया गया है जिसके कारण इस क्षेत्र में रोजगार के असीम अवसर उपलब्ध हो सकते हैं। 

PLI Scheme for IT- Hardware Manufacturing

पीएलआई योजना के भारत के हार्डवेयर मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को और भी ज्यादा मजबूती प्रदान करने के लिए सरकार ने इसे PLI स्कीम के अंतर्गत सम्मिलित किया है इस बात की घोषणा 24 फरवरी 2021 को कानून और न्याय मंत्री श्री रवि शंकर प्रसाद द्वारा किया गया था। 

इस सेक्टर के लिए 7,350 करोड़ रुपये का बजट पेश किया गया है। इसके अंतर्गत Tablet पर 3000 करोड़ रुपए और Laptop पर ₹30000 हजार करोड़ का खर्च सरकार करेगी ताकि भारत में डिजिटल अभियान को प्रोत्साहित किया जा सके इसके अलावा इस क्षेत्र में 200000 लोगों को सीधे तौर पर नौकरी भी मिल जाएगी। 

PLI Scheme for Pharmaceutical industry

पीएलआई योजना के अंतर्गत Medicine के Production में भी भारत को आत्मनिर्भर और निर्यातक बनाने का भरपूर प्रयास किया गया है। PLI Scheme को ड्रग्स और फार्म कंपनियों के लिए भी शुरू किया जा चुका है। PLI Scheme के अंतर्गत इसके लिए 15 हजार करोड़ रुपये इंसेंटिव का प्रावधान भी किया गया है।

PLI Scheme रोजगार बढ़ाने में कैसे सहायक होगा

भारत एक विशाल जनसंख्या वाला देश है और यहां रोजगार की समस्या हमेशा बनी रहती है ऐसे में इस योजना के माध्यम से आने वाले दिनों में भारत में 520 बिलियन डॉलर का Investment होगा जिससे प्रत्येक सेक्टर में रोजगार के अवसर उपलब्ध होंगे और युवाओं को रोजगार मिलेंगे। 

इसके लिए सरकार ने कुल मिलाकर 2 लाख करोड रुपए का बजट यहां पर निर्धारित किया है जिसमें से 5 % सरकार ऐसे कंपनियों को देगी जो उत्पादन के क्षेत्र में तेजी के साथ काम करेंगे और अपने द्वारा बनाए गए Product को विश्व के दूसरे देशों में भी निर्यात करेंगे। 

FAQs –

Q. पीएलआई योजना में कितने सेक्टर हैं?

Ans – इस योजना को 14 क्षेत्रों के लिए लाया गया है इसके लिए सरकार 1.97 लाख करोड़ रुपये Production और Manufacturing कंपनियां को आर्थिक सहायता के तौर पर देगी।

Q. पीएलआई की फुल फाॅर्म क्या है?

Ans – पीएलआई की फुल फाॅर्म प्रोडक्शन लिंक्ड इन्सेंटिव (production linked incentive) होता है।

Q. केंद्र सरकार यह योजना क्यों लेकर आई है?

Ans – भारत के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को बढ़ावा देने एवं साथ ही देश के बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध हो इसी उद्देश्य से केंद्र सरकार यह योजना लेकर आई है।

Q. पीएलआई स्कीम से क्या लाभ मिलेगा?

Ans – पीएलआई स्कीम से कई सारे फायदे हैं, PLI योजना की मदद से भारतीय निर्माताओं को वैश्विक प्रतिस्पर्धा के लिए तैयार करना है ताकि भारत के द्वारा बनाया गया Product  विश्व के बाजारों में आसानी से Sell किया जा सके। यह मुख्यतः योग्यता और अत्याधुनिक तकनीक वाले क्षेत्रों में निवेश के लिए आकर्षित करेगी। इस स्कीम के माध्यम से भारत को एशिया का वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला का एक अभिन्न हिस्सा बनाएगी। इस योजना के माध्यम से अपने देश मे रोजगार के नये असीम संभावनाएं उत्पन्न होंगे।

Read More – 

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Comment