नाटो (NATO) क्या है, इसके सदस्य देश | NATO Full Form in Hindi

दोस्तों, आज के आर्टिकल में हम जानेंगे विश्व के सबसे बड़े सैन्य गठबंधन नाटो (NATO) के बारे में। साल 1945 में दूसरे विश्व युद्ध के समापन के बाद सोवियत संघ ने पूर्वी यूरोप से अपनी सेनाएं हटाने से इंकार कर दिया और अंतराष्ट्रीय संधियों को ना मानते हुए बर्लिन की नाकेबंदी कर दिया। इस करवाई से घबराकर अमेरिका और यूरोपियन देशों को लगा की सोवियत संघ अपनी साम्यवादी विचारधारों को यूरोप में फैलाना चाहता है।

इसलिए अमेरिका ने एक ऐसा संगठन बनाने की पहल की जिससे पश्चिमी देशो को सोवियत संघ से सुरक्षा प्रदान किया जा सके। इसके तत्पश्चात नाटो की स्थापना की गई। वर्तमान समय (2022) में जब से रूस ने यूक्रेन पर सैन्य करवाई की घोषणा की है। तब से एक शब्द NATO खूब चर्चा में है। लोग इसके बारे में जानना चाहते है। आज के इस लेख में अंत तक बने रहिये आप NATO क्या है, NATO Full Form in Hindi क्या होता है। नाटो का उद्देश्य क्या है ये सभी चीजे जान पाएंगे। 

NATO क्या है?

NATO (North Atlantic Treaty Organization) इसे North Atlantic Alliance भी कहा जाता है। ये एक प्रकार का अंतर सरकारी सैन्य गठबंधन है। वर्तमान समय में इसमें कुल सदस्यों देशों की संख्या 30 है। जिसमे 28 यूरोपियन देश एवं दो नार्थ अमेरिका देश अमेरिका एवं कनाडा है। नाटो की सदस्यता लेने वाला अंतिम यानी की 30 वां देश नार्थ मेसोडेनिआ है। ये साल 2020 में नाटो का सदस्य बना था।

nato kya hai
nato kya hai

इसकी स्थापना 4 अप्रैल 1949 ईस्वी की की गई थी एवं नाटो का मुख्यालय बेल्जियम की राजधानी ब्रुसेल्स में स्थित है। ये एक प्रकार का एक सैन्य गठबंधन है इसमें सभी सदस्य देश एक दूसरे को मिलिट्री सुरक्षा प्रदान करते है। इसके साथ साथ राजनीतिक, सामाजिक, आर्थिक और किसी भी तरह के समस्याओं से निपटने के लिए भी नाटो के सदस्य देश एक दूसरे के प्रति प्रतिबद्ध है। 

नाटो की सबसे खाश बात ये है की नाटो के आर्टिकल 5 में ये लिखा है की अगर किसी भी एक सदस्य देश पर आक्रमण होता है तो इसे नाटो के सभी देशो पर आक्रमण मान लिया जाता है और इस स्थिति में सभी नाटो सदस्य देश मिलकर उस देश पर हमला कर देंगे। इस वजह से कोई भी देश नाटो के देशों पर आक्रमण करने की हिमाकत नहीं करता है। 

NATO Information in Hindi

स्थापना  4 अप्रैल 1949 ईस्वी को 
मुख्यालय  ब्रुसेल्स, बेल्जियम 
प्रकार  सैन्य गठबंधन
NATO का फुल फॉर्म  North Atlantic Treaty Organization
सदस्यों देशो की संख्या  30 देश 
आधिकारिक भाषा  इंग्लिश, फ्रेंच 
सेक्रेटरी जनरल  Jens Stoltenberg
आधिकारिक वेबसाइट  www.nato.int

NATO History in Hindi 

द्वितीय विश्व युद्ध के अंत के बाद पुरे विश्व में दो देश अमेरिका और सोवियत संघ महाशक्ति बन कर उभरे। यूरोप में भविष्य में संभावित खतरे को देखते हुए ब्रिटेन, फ्रांस, नीदरलैण्ड तथा लक्सेमबर्ग एवं बेल्जियम ने सामूहिक रूप से एक संधि पर हरताक्षर किये जिसे ब्रुसेल्स की संधि कहा जाता है। इस संधि में यह तय किया गया की यदि किसी देश के द्वारा आक्रमण किया गया तो इस स्थिति में सभी देश एक दूसरे को सामूहिक रूप सर सैनिक मदद एवं सामाजिक और आर्थिक मदद करेंगे।

इसी बिच सोवियत संघ ने पश्चिमी यूरोप से अपनी सैनिक हटाने से इंकार कर दिया और तमाम अंतराष्ट्रीय संधियों को मानने से इंकार कर साल 1948 में बर्लिन की नाकेबंदी कर दिया। इससे घबराकर यूरोपियन देशो और अमेरिका को लगा की सोवियत संघ साम्यवादी विचारधारा को पश्चिमी देशो और यूरोप में फैलाना चाहता है।

इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए अमेरिका ने पहल करते हुए एक ऐसे सैन्य गठबंधन बनाने की बात की जो सोवियत संघ से पश्चिमी देशों की रक्षा किया जा सके। इसके फलस्वरूप यूनाइटेड नेशंस चार्टर के अनुच्छेद 15 के अंतर्गत उतर अटलांटिक संधि (North Atlantic Alliance) का प्रस्ताव पेश किया और 4 अप्रैल 1949 ईस्वी को कुल 12 देशो फ्रांस, बेल्जियम, लक्जमर्ग, ब्रिटेन, नीदरलैंड, कनाडा, डेनमार्क, आइसलैण्ड, इटली, नार्वे, पुर्तगाल और संयुक्त राज्य अमेरिका ने हस्ताक्षर किये।

कोल्ड वॉर शुरू होने से पहले  स्पेन, यूनान, टर्की, पश्चिम जर्मनी ने इसकी सदस्यता ली इसके बाद और भी बाद के वर्षो में कई देशो ने नाटो की सदस्यता ली जैसे की कोल्ड वॉर के अंत के बाद पोलैण्ड, हंगरी, और चेक गणराज्य ने इसकी सदस्यता ली इसके बाद साल 2004 में सात और देशों ने इसे ज्वाइन किया।

वर्तमान समय में इसकी कुल सदस्य देशो की संख्या 30 है। नाटो की सदस्यता लेने वाला अंतिम देश नार्थ मेसोडेनिआ है। ये साल 2020 में नाटो का सदस्य बना था। हालाकिं इसके जबाव में सोवियत संघ ने वारसा पैक्ट का गठन किया था जो सोवियत संघ के विघटन के बाद समाप्त कर दिया गया। 

NATO का उद्देश्य क्या है?

नाटो के निम्नलिखित उद्देश्य है। 

  • नाटो की स्थापना के समय इसका मुख्य उद्देश्य पश्चिमी देशों को सोवियत रूस के साम्यवादी विचारधारा से रोकना था। 
  • नाटो के सभी सदस्य देश एक दूसरे को सामूहिक सैनिक सुरक्षा और राजनितिक, आर्थिक रूप से सहायता प्रदान करने की लिए प्रतिबद्ध है। 
  • अमेरिका और यूरोप के देशों में सभी तरह के मानव के अधिकार, लोकतंत्र और व्यक्तिगत स्वंतंत्रता हो ये सुनिश्चित करना। 
  • नाटो के सभी सदस्य देशो के बिच अपनापन और एकजुटता कायम रखना। 
  • आतंकवाद को किसी भी कीमत पर ख़त्म करना 
  • नाटो के सभी देशो में शासन कानून के मूल्यों के आधार पर चले ये सुनिश्चित करना।
  • अंतराष्ट्रीय लेवल पर किसी भी प्रकार के उपजे हालात सभी देशो मिलकर एक दूसरे को हरसंभव सहायता प्रदान करेंगे।
  • समुद्र से मुमकिन खतरे को नाटो के सभी देश एक दूसरे देशों को रक्षा करने में सहायता करना। 
  • नाटो के सभी देशो में स्थायी शांति हो ये सुनिश्चित करना।
  • वर्तमान और भविष्य में बाहरी ताकतों से संभावित खतरे से निपटने के लिए नए टेक्नोलॉजी के उपकरणों के निर्माण को प्रोत्साहन देना। 

NATO Full Form in Hindi

NATO का Full Form “North Atlantic Treaty Organization” होता है। इसे हिंदी में “उत्तरी अटलांटिक ट्रीटी आर्गेनाईजेशन” होता है। 

नाटो का मुख्यालय कहाँ है (NATO Headquarter)

NATO का मुख्यालय बेल्जियम (Belgium) की राजधानी ब्रुसेल्स (Brussels) में स्थित है। 

NATO में कौन कौन से देश हैं?

वर्तमान समय में नाटो के सदस्य देशों की संख्या 30 है जो की निम्नलिखित है। 

  1. Albania (2009)
  2. Belgium (1949)
  3. Bulgaria (2004)
  4. Canada (1949)
  5. Croatia (2009)
  6. Czech Republic (1999)
  7. Denmark (1949)
  8. Estonia (2004)
  9. France (1949)
  10. Germany (1955)
  11. Greece (1952)
  12. Hungary (1999)
  13. Iceland (1949)
  14. Italy (1949)
  15. Latvia (2004)
  16. Lithuania (2004)
  17. Luxembourg (1949)
  18. Montenegro (2017)
  19. Netherlands (1949)
  20. North Macedonia (2020)
  21. Norway (1949)
  22. Poland (1999)
  23. Portugal (1949)
  24. Romania (2004)
  25. Slovakia (2004)
  26. Slovenia (2004)
  27. Spain (1982)
  28. Turkey (1952)
  29. The United Kingdom (1949)
  30. The United States (1949)

FAQs –

Q. NATO में कितने देश हैं?

वर्तमान समय में नाटो में कुल सदस्यों देशों की संख्या 30 है?

Q. क्या भारत नाटो का सदस्य है?

जी नहीं, भारत नाटो का सदस्य देश नहीं है।

Q. क्या पाकिस्तान नाटो का सदस्य है?

जी नहीं, भारत की तरह पाकिस्तान भी नाटो का सदस्य देश नहीं है।

Q. NATO की स्थापना कब की गई?

NATO की स्थापना 4 अप्रैल 1949 ईस्वी को की गई थी।

Q. नाटो का मुख्यालय कहाँ है?

नाटो का हेडक्वार्टर ब्रुसेल्स, बेल्जियम में स्थित है।

Q. नाटो के महासचिव कौन है?

वर्तमान समय में नाटो के महासचिव Jens Stoltenberg है।

Q. नाटो का पूरा नाम क्या है?

North Atlantic Treaty Organization

आशा करता हूँ आपको ये आर्टिकल NATO क्या है? NATO Full Form in Hindi अच्छा और ज्ञानवर्धक लगा होगा। अब आप नाटो के बारे में अच्छे से जान गए होंगे, इसे आप अपने दोस्तों के साथ साथ सोशल मीडिया जैसे की Facebook, Twitter इत्यादि पर भी जरूर शेयर करें, इस लेख को लेकर किसी भी प्रकार सुझाव, सवाल हो तो आप कमेंट में लिख सकते है, धन्यवाद!

इन्हें भी पढ़ें –

नमस्कार दोस्तों, मैं Rahul Niti एक Professional Blogger हूँ और इस ब्लॉग का Founder, Author हूँ. इस ब्लॉग पर मैं बहुत से विषयों पर लिखता हूँ और अपने पाठकों के लिए नियमित रूप से उपयोगी और नईं-नईं जानकारी शेयर करता रहता हूँ।

Leave a Reply

error: Content is protected !!